Home देश भारत बीकानेर में जमीन सौदे को लेकर रॉबर्ट वाड्रा और उनकी मां से ईडी ने की पूछताछ, कल फिर बुलाया

बीकानेर में जमीन सौदे को लेकर रॉबर्ट वाड्रा और उनकी मां से ईडी ने की पूछताछ, कल फिर बुलाया

आउटलुक टीम - FEB 12 , 2019
बीकानेर में जमीन सौदे को लेकर रॉबर्ट वाड्रा और उनकी मां से ईडी ने की पूछताछ, कल फिर बुलाया
मां संग ईडी दफ्तर पहुंचे वाड्रा, समर्थकों ने लगाए चौकीदार चोर है के नारे

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बीकानेर जिले में कथित जमीन घोटाले के संबंध में मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा और उनकी मां मौरीन वाड्रा से करीब नौ घंटे पूछताछ की। जयपुर में हुई पूछताछ में ईडी ने वाड्रा की मां मौरीन वाड्रा से भी सवाल किए। उनको पूछताछ के लिए बुधवार को फिर बुलाया है।

 

वाड्रा अपनी मां मौरीन के साथ सुबह साढे दस बजे ईडी के क्षेत्रीय कार्यालय पहुंचे। लगभग डेढ घंटे बाद मौरीन वाड्रा ईडी कार्यालय से चलीं गयीं। वहीं वाड्रा दोपहर डेढ बजे बाहर निकले। सुबह कांग्रेस महासचिव व वाड्रा की पत्नी प्रियंका गांधी ईडी कार्यालय तक उन्हें छोड़ने आयी थीं। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच वाड्रा, प्रियंका व मौरीन एक ही वाहन से शहर के अंबेडकर सर्किल स्थित ईडी कार्यालय पहुंचे थे।प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) रॉबर्ट वाड्रा से लंदन में उनकी प्रॉपर्टी को लेकर लंबी पूछताछ कर चुकी है। 

क्या है आरोप

वाड्रा ने 2007 में स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी प्राइवेट लिमिटेड के नाम से एक कंपनी बनाई। वाड्रा और उनकी मां मौरिन कंपनी की डायरेक्टर बनीं। बाद में कंपनी का नाम स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी लिमिटेड लायबिलिटी कर दिया गया। रजिस्ट्रेशन के वक्त बताया गया था कि ये कंपनी रेस्टोरेंट, बार और कैंटीन चलाने जैसे काम करेगी। वहीं वाड्रा की कंपनी ने 2012 में कोलायत क्षेत्र में 270 बीघा जमीन 79 लाख रुपए में खरीदी। आरोप है कि यह बीकानेर में भारतीय सेना की महाजन फील्ड फायरिंग रेंज की जमीन थी। इस जमीन के कुछ भाग पर विस्थापित लोगों को बसाया गया था, लेकिन उनमें से कुछ ने फर्जी दस्तावेज तैयार करवाकर जमीन वाड्रा की कंपनी को बेच दी, जबकि सेना की जमीन बेची नहीं जा सकती। बाद में वाड्रा की कंपनी ने यह जमीन पांच करोड़ रुपए में बेची। ईडी ने इस मामले में कुछ स्थानीय अधिकारियों की भूमिका भी संदिग्ध मानी है।

वाड्रा ने सरकार पर साधा निशाना

ईडी की पूछताछ से पहले रॉबर्ट वाड्रा ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने लिखा कि मैं अपनी 75 वर्षीय मां के साथ ईडी के सामने पेश होने जा रहा हूं। ये केंद्र सरकार वरिष्ठ नागरिक के साथ इस तरह दुर्व्यवहार कर रही है, जो एक कार क्रैश में अपनी बेटी खो चुकी हैं, अपने बेटे और पति को भी वह खो चुकी हैं। वाड्रा ने कहा कि तीन मौतों के बाद मैंने केवल उन्हें कुछ समय मेरे दफ्तर में बिताने को कहा और उनपर भी इस तरह के आरोप लगा दिए। रॉबर्ट वाड्रा ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 4 साल 8 महीने में इस सरकार ने कुछ नहीं किया, लेकिन लोकसभा चुनाव से एक महीने पहले ही मुझ पर आक्रामक रुख अपनाया। उन्होंने कहा कि क्या सरकार को लगता है कि लोगों को ये नहीं दिख रहा?

समर्थकों ने लगाए ‘चौकीदार चोर है’ के नारे

रॉबर्ट वाड्रा और उनकी मां मौरीन आज जयपुर में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश होने पहुंचे। जैसे ही वह ईडी दफ्तर के बाहर पहुंचे, वहां मौजूद उनके समर्थकों ने ‘चौकीदार चोर है’ के नारे लगाना शुरू कर दिए।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से