Home देश भारत चक्रवात ‘वायु’ ने बदली दिशा, फिर भी गुजरात के तटीय इलाकों में दिखेगा असर

चक्रवात ‘वायु’ ने बदली दिशा, फिर भी गुजरात के तटीय इलाकों में दिखेगा असर

आउटलुक टीम - JUN 13 , 2019
चक्रवात ‘वायु’ ने बदली दिशा, फिर भी गुजरात के तटीय इलाकों में दिखेगा असर
आज गुजरात तट से टकराएगा चक्रवात 'वायु', तीन लाख लोगो को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया
आउटलुक टीम

गुजरात तट की ओर बढ़ रहे चक्रवात 'वायु' पर थोड़ी राहत की खबर है। 135 से 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आ रहे इस तूफान ने गुरुवार सुबह अपनी दिशा थोड़ी बदली है। गुजरात तट से पहले यह तूफा वापस समुद्र की ओर मुड़ गया है। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक अब इस तूफान के गुजरात में घुसने की संभावना नहीं है। फिर भी गुजरात पर अभी भी चक्रवात वायु का खतरा टला नहीं है। अगले 24 घंटे राज्य के लिए बेहद अहम हो सकते हैं। गुजरात के तटीय क्षेत्र में अभी तेज हवाएं चल रही हैं और बारिश हो रही है। इस बीच समंदर अभी अपना विकराल रूप ले रहा है। इसके लिए सरकार ने युद्ध स्तर पर तैयारियां की हैं और एनडीआरएफ की टीमें तैनात हो गई हैं। तूफान से प्रभावित होने वाले इलाकों से 3 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। तूफान के खतरे को देखते हुए कुल 80 ट्रेनें कैंसल कर दी गई हैं और कई एयरपोर्टों से हवाई यातायात को भी सस्पेंड करने का फैसला किया गया है।

आईएमडी के अनुसार, अरब सागर में काफी खतरनाक चक्रवाती तूफान वायु पिछले 6 घंटों में उत्तर-उत्तर-पश्चिम की तरफ बढ़ा है। यह वेरावल से (दक्षिण-पश्चिम दिशा में) 130 किलोमीटर की दूरी पर और पोरबंदर से (दक्षिण दिशा में) 180 किलोमीटर की दूरी पर है। कुछ समय के लिए इसके उत्तर-उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ बढ़ने की संभावना है, उसके बाद आज दोपहर से यह 135-145 किलोमीटर/घंटा की स्पीड के साथ उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ेगा।

गृहमंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि चक्रवात वायु से उत्पन्न खतरे को देखते हुये निचले इलाकों से करीब 3.10 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेज दिया गया है और राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की 52 टीमों को तैनात कर दिया गया है। शाह ने बताया कि तटरक्षक बल, नौसेना, सेना और वायु सेना की इकाइयों को तैयार रखा गया है और विमानों एवं हेलीकॉप्टरों की मदद से हवाई निगरानी की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस तूफान के पोरबंदर तथा संघ शासित प्रदेश दीव के बीच कहीं पहुंचने की आशंका है और वह लोगों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करते हैं।

‘बेहद गंभीर’ की श्रेणी में रखे गए इस चक्रवात की संभावित आपदा के खतरे को देखते हुये दस जिलों को अलर्ट जारी किया गया है और इसके तट पर टकराने के 24 घंटे बाद भी ताकतवर बने रहने की आशंका जाहिर की गई है। आमतौर पर चक्रवात तट से टकराने के बाद कमजोर पड़ जाता है।

कई एयरपोर्ट बंद, कई ट्रेनें रद्द

चक्रवात वायु को देखते हुए पश्चिमी रेलवे ने कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है और कई ट्रेनों के रूट बदल दिए हैं। इस चक्रवाती तूफान की वजह से कुल 110 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं। इसके अलावा चक्रवाती तूफान वायु से संभावित नुकसान और यात्रियों को होने वाली परेशानी को देखते हुए पांच एयरपोर्ट पर विमानों का संचालन भी बुधवार रात से गुरुवार आधी रात तक के लिए बंद कर दिया गया है। एयरपोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के मुताबिक पोरबंदर, दीव, भावनगर, केशोद और कांडला एयरपोर्ट से विमानों का संचालन बंद कर दिया गया है।

प्रशासन ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

चक्रवाती तूफान वायु के दौरान लोगों की सहायता करने के लिए जिला प्रशासन और एनडीआरएफ ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं। एनडीआरएफ का हेल्पलाइन नंबर- 91-9711077372 है। इसके अलावा चक्रवात वायु प्रभावित जिलों के हेल्पलाइन इस प्रकार हैं- जामनगर कंट्रोल रूम नंबर: 0288-2553404, द्वारका कंट्रोल रूम नंबर: 02833-232125,  पोरबंदर कंट्रोल रूम नंबर: 0286-2220800, दाहोद कंट्रोल रूम नंबर: 02673-239277, नवसारी कंट्रोल रूम नंबरः 02637-259401, पंचमहल कंट्रोल रूम नंबर: +912672242536, छोटा उदयपुर कंट्रोल रूम नंबर: +912669233021, कच्छ कंट्रोल रूम नंबर: 02832-250080, राजकोट कंट्रोल रूम नंबर: 0281-2471573, अरावली कंट्रोल रूम नंबर: +912774250221

तैयारी पुख्ता

गुजरात के 10 जिलों में स्कूल, कॉलेजों और आंगनवाड़ियों में दो दिन की एहतियातन छुट्टी घोषित कर दी गई है। तटरक्षक, थलसेना, नौसेना, वायुसेना और सीमा सुरक्षा बल को हाई अलर्ट कर दिया गया है। एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि सेना ने गुजरात के तटवर्ती इलाकों में 10 टुकड़ियां तैनात की हैं। साथ ही 24 टुकड़ियों को तैयार रहने को कहा गया है और वे बचाव एवं राहत अभियान के लिए तैयार हैं। हर टुकड़ी में करीब 70 जवान हैं।

एजेंसी इनपुट्स

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से