Advertisement
Home देश सामान्य कर्नाटक में वीर सावरकर, टीपू सुल्तान पोस्टर विवादः शिवमोग्गा में तनाव के बाद कर्फ्यू, सभाओं पर प्रतिबंध

कर्नाटक में वीर सावरकर, टीपू सुल्तान पोस्टर विवादः शिवमोग्गा में तनाव के बाद कर्फ्यू, सभाओं पर प्रतिबंध

आउटलुक टीम - AUG 15 , 2022
कर्नाटक में वीर सावरकर, टीपू सुल्तान पोस्टर विवादः शिवमोग्गा में तनाव के बाद कर्फ्यू, सभाओं पर प्रतिबंध
कर्नाटक में वीर सावरकर, टीपू सुल्तान पोस्टर विवादः शिवमोग्गा में तनाव के बाद कर्फ्यू, सभाओं पर प्रतिबंध
आउटलुक टीम

कर्नाटक के आमिर अहमद सर्कल में हिंदुत्व के प्रतीक वीडी सावरकर और 18वीं सदी के मैसूर के शासक टीपू सुल्तान के फ्लेक्स लगाने को लेकर दो समूहों के बीच विवाद के कारण इलाके में तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गई है, जिससे शहर में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई और तनाब के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया है। स्थिति को नियंत्रित करने और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हल्का लाठीचार्ज करना पड़ा।

रविवार को भी ऐसा ही मामला सामने आया था, जहां वीर सावरकर के पोस्टर्स को फाड़ दिया गया था, जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया था। आज फिर एक बार ऐसा ही मामला सामने आया है। इस घटना के विरोध में बेंगलुरु में कल टीपू सुल्तान के भी पोस्टर फाड़े गए थे।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस बीच, प्रेम सिंह नाम के एक व्यक्ति पर अज्ञात बदमाशों ने उस समय चाकू मार दिया जब वह दुकान पर ताला लगाकर घर जा रहा था और पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या इस घटना का फ्लेक्स विवाद से कोई संबंध है। फिलहाल उसका मैकगैन अस्पताल में इलाज चल रहा है।

76वें स्वतंत्रता दिवस समारोह के हिस्से के रूप में, एक समूह ने सावरकर के फ्लेक्स को सर्कल में हाई मास्ट लाइट पोल से बांधने की कोशिश की थी, जिस पर दूसरे समूह ने आपत्ति जताई और वहां टीपू सुल्तान के फ्लेक्स को स्थापित करना चाहते थे।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि कथित तौर पर कुछ लोगों द्वारा फ्लेक्स को बदलने या क्षतिग्रस्त करने का प्रयास किया गया था, इससे क्षेत्र में तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गई, क्योंकि दोनों पक्षों के लोग बड़ी संख्या में वहां जमा हो गए थे। स्थिति को नियंत्रित करने और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हल्का लाठीचार्ज करना पड़ा। अधिकारियों ने राष्ट्रीय तिरंगा उस स्थान पर स्थापित किया है जहां दोनों समूह फ्लेक्स स्थापित करना चाहते थे।

बीजेपी और अन्य हिंदू समूहों ने विरोध प्रदर्शन किया और मांग की कि उन्हें सावरकर के फ्लेक्स को स्थापित करने की अनुमति दी जाए और दूसरे समूह के खिलाफ उनके आइकन का अपमान करने के लिए कार्रवाई की जाए। अधिकारियों ने इलाके में अतिरिक्त बल तैनात कर दिया है और पूरे शहर में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से

Advertisement
Advertisement