Home » देश » सामान्य » रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन पर रेप का केस, मंत्री ने दर्ज कराई ब्लैकमेलिंग की शिकायत

रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन पर रेप का केस, मंत्री ने दर्ज कराई ब्लैकमेलिंग की शिकायत

AUG 10 , 2018

असम पुलिस ने रेल राज्यमंत्री राजेन गोहेन के खिलाफ नगांव जिले में 24 साल की एक महिला के साथ कथित रूप से बलात्कार करने और उसे धमकाने का केस दर्ज किया गया है। राजेन गोहेन ने भी महिला और उसके परिवार के खिलाफ ब्लैकमेलिंग का शिकायत दर्ज कराई है। मंत्री के विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) संजीव गोस्वामी ने बताया कि मंत्री के खिलाफ केस वापस ले लिया गया है। जब इस बारे नगांव थाने के प्रभारी से सवाल किया गया तो उन्होंने बताया कि महिला ने कोर्ट में केस वापस लेने के लिए याचिका दायर की है पर केस अभी भी चल रहा है। हम अपनी जांच जारी रखेगे।  

समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार, नगांव की पुलिस उपाधीक्षक (मुख्यालय) सबिता दास ने कहा कि नगांव थाने में शिकायत मिलने के बाद दो अगस्त को गोहेन के खिलाफ केस दर्ज किया गया।

उन्होंने कहा कि हमने मामला दर्ज किया है। जांच शुरू हो चुकी है और हम कानून के अनुसार आगे बढ़ेंगे। हालांकि सबिता ने मामले के बारे में कोई जानकारी देने से इनकार किया। नगांव थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मामला पिछले सप्ताह दर्ज किया गया जिसकी संख्या 2592/18 है।

उन्होंने कहा कि भारतीय दंड संहिता की धाराओं 417 (धोखाधड़ी), 376 (बलात्कार) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। हम जांच कर रहे हैं और महिला का बयान दर्ज किया जा चुका है।  उन्होंने कहा कि महिला ने मेडिकल जांच से इऩकार किया है। अधिकारी ने कहा कि शिकायत के अनुसार, कथित घटना सात से आठ महीने पुरानी है। गोहेन और महिला दोनों लंबे वक्त से एक दूसरे को जानते थे और केंद्रीय मंत्री उसके घर जाते थे। 

उन्होंने कहा कि गोहेन ने महिला के घर पर कथित अपराध उस समय किया जब उसके पति और अन्य परिजन मौजूद नहीं थे। यह पूछे जाने पर कि क्या गोहेन की गिरफ्तारी हो सकती है, पुलिस अधिकारी ने कहा कि हम अब जांच कर रहे हैं। अगर जरूरत पड़ी तो जांच पूरी होने के बाद ही गिरफ्तारी होगी। 

जब केंद्रीय मंत्री के मोबाइल पर कॉल किया गया तो उन्होंने जवाब  नहीं दिया। उनके विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) संजीव गोस्वामी ने बपताया कि मंत्री मीडिया से बात नहीं करेंगे। जब उनसे रेप के केस के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह केस वापस लिया जा चुका है। आज और अभी कोई केस नहीं है।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.