Home देश सामान्य भारत में चीनी ऐप बैन होने पर चीन ने कहा, 'बेहद चिंतित, स्थिति की कर रहे हैं पुष्टि'

भारत में चीनी ऐप बैन होने पर चीन ने कहा, 'बेहद चिंतित, स्थिति की कर रहे हैं पुष्टि'

आउटलुक टीम - JUN 30 , 2020
भारत में चीनी ऐप बैन होने पर चीन ने कहा, 'बेहद चिंतित, स्थिति की कर रहे हैं पुष्टि'
भारत में चीनी ऐप बैन होने पर चीन ने कहा, 'बेहद चिंतित, स्थिति की कर रहे हैं पुष्टि'
आउटलुक टीम

भारत सरकार द्वारा चीन से जुड़े 59 मोबाइल प पर सोमवार को प्रतिबंध लगाए जाने के बाद चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिज़ियान ने कहा है कि उनका देश इस कदम से बेहद चिंतित है और स्थिति की पुष्टि कर रहा है।

बता दें कि केंद्र सरकार ने चीन को झटका देते हुए सोमवार को 59 चीनी प को प्रतिबंधित कर दिया है, जिन एप्स को बैन किया गया है, उनमें टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, वीचैट, शेयरइट और कैम स्केनर समेत अन्य शामिल हैं। केंद्र सरकार ने सोमवार को बयान में कहा था कि 'उपलब्ध सूचना के आधार प्रतिबंधित किए गए 59 प्स उन गतिविधियों में लगे हुए हैं जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, सुरक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरनाक हैं।'

चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा, 'हम इस बात पर जोर देना चाहते हैं कि चीनी सरकार हमेशा चीनी व्यवसायों को अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय कानूनों-विनियमों का पालन करने के लिए कहती है। भारत सरकार के पास चीनी निवेशकों सहित अंतरराष्ट्रीय निवेशकों के कानूनी अधिकारों को बनाए रखने की जिम्मेदारी है।'

सरकार के इस कदम के बाद चीनी कंपनियों की प्रतिक्रिया

भारत में चीन के प बैन किए जाने के बाद चीनी कंपनियों की ओर से प्रतिक्रिया आ रही है। इस प्रतिबंध पर टिकटॉक इंडिया ने ट्वीट करके कहा है कि सरकार द्वारा लगाया गया यह प्रतिबंध अस्थायी है और वह सरकार के साथ इस मसले पर बात कर रही है।

टिकटॉक इंडिया के प्रमुख निखिल गांधी ने कहा, 'सरकार ने 59 एप्स पर अंतरिम प्रतिबंध लगाया है जिनमें टिकटॉक भी शामिल है। हम इस प्रतिबंध के लिए सरकार से जल्द ही बात करने वाले हैं। टिकटॉक हमेशा की तरह डाटा और प्राइवेसी की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है। हम भारतीय यूजर्स का डाटा चीनी या किसी अन्य सरकार के साथ साझा नहीं करते हैं।'

वहीं, ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म क्लब फैक्टरी ने अपने आधिकारिक बयान में कहा कि क्लब फैक्टरी सभी क्षेत्रीय नियमों और विनियमों का कड़ाई से पालन करता है और उपयोगकर्ताओं के आंकड़ों और निजता के मामले में उच्च मानक बनाए रखता है। हम यूजर्स की सुरक्षा और निजता के साथ कोई समझौता नहीं करते हैं।

इन प्स को किया गया है प्रतिबंधित

प्रतिबंधित मोबाइल प में वीडियो-शेयरिंग सोशल नेटवर्किंग प टिकटॉक, यूसी ब्राउज़र और फ़ाइल शेयरिंग प शेयरइट शामिल हैं। जिन एप्स पर प्रतिबंध लगाया गया है उनमें टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, शेयर इट आदि एप्स हैं। इनके अलावा हैलो, लाइक, कैम स्कैनर, शीन क्वाई भी बैन कर दिया गया है तथा बायडू मैप, केवाई, डीयू बैटरी स्कैनर भी बैन हो गया है। सरकार ने शेयर इट, एमआई वीडियो कॉल, वीगो विडियो, ब्यूट्री प्लस, लाइकी, वी मेट, यूसी न्यूज जैसे प पर भी पाबंदी लगा दी है, जोकि लोगों में काफी लोकप्रिय थे।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से