Home देश सामान्य सेंट स्टीफन ने जारी किया पहला कट-ऑफ, इकोनॉमिक्स ऑनर्स के लिए 99.25 फीसदी

सेंट स्टीफन ने जारी किया पहला कट-ऑफ, इकोनॉमिक्स ऑनर्स के लिए 99.25 फीसदी

आउटलुक टीम - SEP 16 , 2020
सेंट स्टीफन ने जारी किया पहला कट-ऑफ, इकोनॉमिक्स ऑनर्स के लिए 99.25 फीसदी
प्रतीकात्मक तस्वीर
पीटीआइ
आउटलुक टीम

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के तहत सेंट स्टीफन कॉलेज ने ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए अपना पहला कट-ऑफ जारी कर दिया है। इसमें पिछले साल की तुलना में उछाल देखने को मिला है। इकोनॉमिक्स ऑनर्स की कट ऑफ सामान्य श्रेणी के कॉमर्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए  सर्वाधिक 99.25 फीसदी रही है। बीते साल 98.75 फीसदी थी। इस तरह  कट ऑफ में 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है।

सेंट स्टीफंस कॉलेज के सभी कोर्सेज की कट ऑफ में औसतन  0.25 फीसदी से एक फीसदी तक का उछाल देखने को मिला है। अंग्रेजी ऑनर्स, इतिहास ऑनर्स व बीए प्रोग्राम की कट ऑफ 99 फीसदी तक पहुंची है। इन तीनों पाठ्यक्रमों में कॉमर्स के छात्रों के लिए कट ऑफ 99 फीसदी रही है। कॉमर्स के छात्रों के लिए इस बार इको ऑनर्स की कट ऑफ सर्वाधिक 99.25 फीसदी रही है, जबकि ह्यूमेनिटीज के लिए 98.75 फीसदी है। वहीं, साइंस स्ट्रीम वालों के लिए बीते साल के समान ही 98 फीसदी रही है। 

अंग्रेजी ऑनर्स के लिए कॉमर्स के छात्रों के लिए कट ऑफ में 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है। इस स्ट्रीम के छात्रों के लिए कट ऑफ 99 फीसदी रही है, जबकि ह्यूमेनिटीज व साइंस स्ट्रीम के छात्रों के लिए 98.75 फीसदी है। 

बीएससी ऑनर्स गणित की कट ऑफ में भी बढ़ोतरी हुई है। कॉमर्स वालों के  लिए गणित की कट ऑफ 98, जबकि साइंस स्ट्रीम के छात्रों के लिए भी 98 फीसदी है। वहीं, ह्युूमेनिटीज के लिए 96.5 फीसदी रही है। बीए ऑनर्स इतिहास की कट ऑफ कॉमर्स व साइंस स्ट्रीम वालों के लिए 99 फीसदी और ह्यूमेनिटीज स्ट्रीम के लिए 98.25 फीसदी है।

बीएससी केमिस्ट्री ऑनर्स की कट ऑफ 96.7 फीसदी, जबकि बीएससी प्रोग्राम (कंप्यूटर साइंस) की कट ऑफ 97.67 फीसदी रही है। दर्शनशास्त्र की कट ऑफ कॉमर्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए 98, ह्यूमेनिटीज स्ट्रीम के  लिए 98.75 फीसदी व साइंस स्ट्रीम के लिए 97 फीसदी रही है।

डीयू द्वारा जारी कट-ऑफ कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में प्राप्त सर्वश्रेष्ठ चार अंकों के आधार पर होती है। फोर फॉर्मूलों में बेस्ट चार विषयों में से एक भाषा, एक मुख्य विषय (यदि लागू हो) और बाकी दो विषय में प्राप्त अंकों के जोड़ने के बाद टोटल अंकों के आधार पर शामिल किया जाता है। प्रत्येक विषय के लिए मापदंड थोड़ा अलग हो सकते हैं, छात्रों को आवेदन करने से पहले प्रॉस्पेक्टस को सावधानीपूर्वक पढ़ना चाहिए।

इस वर्ष, दिल्ली विश्वविद्यालय को पिछले तीन वर्षों में सबसे अधिक 3,53,919 आवेदन प्राप्त हुए थे। यह पिछले वर्ष से 1 लाख से अधिक है जब लगभग 2.5 लाख छात्रों ने स्नातक प्रवेश के लिए आवेदन किया था। इसके अलावा इस साल कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में 95 प्रतिशत अंक से अधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्रों की संख्या भी सीबीएसई  में दोगुनी हो गई है। डीयू द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष प्राप्त अधिकांश आवेदन सीबीएसई के हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से