Prime minister narendra modi didn't spent a penny from mp fund on four adopted villages congress raises questions : Outlook Hindi
Home » देश » सामान्य » गोद लिए गांवों में पीएम मोदी ने नहीं खर्च किया सांसद निधि का एक भी पैसा, कांग्रेस ने साधा निशाना

गोद लिए गांवों में पीएम मोदी ने नहीं खर्च किया सांसद निधि का एक भी पैसा, कांग्रेस ने साधा निशाना

JUL 19 , 2018

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत वाराणसी में गोद लिए चार गांव में सांसद निधि का एक रुपया भी खर्च नहीं हुआ है। इस बात का खुलासा सूचना के अधिकार (आरटीआई) के जरिए मिली जानकारी से हुआ है। जिला ग्राम्‍य विकास अभिकरण की ओर से जारी पत्र बुधवार को सोशल मीडिया पर वायरल होने से विपक्ष ने इस बात मुद्दा बनाकर बीजेपी और पीएम मोदी पर हमला बोला।

कन्नौज के रहने वाले अनुज वर्मा ने प्रधानमंत्री के गोद लिए गांवों के बारे में सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत जानकारी मांगी थी।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इसे लेकर पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि यह ‘पगलाए’ विकास का सच है। उन्होंने ट्विटर पर कहा- मोदी जी, एक भी गोद लिए गांव में आपने सांसद निधि से फूटी कौड़ी नहीं दी। आपके द्वारा ही शुरू की गई ‘सांसद आदर्श ग्राम योजना’ भी बनी ‘जुमला योजना’।

कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, 'हम सबको पता है कि मोदी सरकार क्यों आरटीआई के खिलाफ है क्योंकि यह पीएम के लिए कुछ अप्रिय सत्य सामने लाता है। जैसे कि खुद के प्रचार में 4500 करोड़ रुपए खर्च करना और वाराणसी में गोद लिए चार गांवों में एक भी रुपया न खर्च करना।'

जिला ग्राम्‍य विकास अभिकरण के परियोजना निदेशक की ओर से 30 जून को भेजे गए पत्र में बताया गया है कि गोद लिए गांव जयापुर, नागेपुर, ककरहिया और डोमरी में प्रधानमंत्री की सांसद निधि से कोई भी कार्य नहीं कराया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, इन गांवों में हुए विकास कार्य सांसद निधि की बजाए सरकारी योजनाओं और कं‍पनियों के सीएसआर फंड से कराए गए है। गांवों में बेहतर सुविधाओं के लिए कई संस्‍थाओं ने भी सहयोग दिया। हालांकि, इस बारे में प्रशासन का कोई अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं है।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.