Home देश सामान्य पीके मिश्रा बने पीएम के नए प्रधान सचिव, नृपेंद्र मिश्रा की लेंगे जगह

पीके मिश्रा बने पीएम के नए प्रधान सचिव, नृपेंद्र मिश्रा की लेंगे जगह

आउटलुक टीम - SEP 11 , 2019
पीके मिश्रा बने पीएम के नए प्रधान सचिव, नृपेंद्र मिश्रा की लेंगे जगह
पीके मिश्रा बने प्रधानमंत्री के नए प्रधान सचिव
आउटलुक टीम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए प्रधान सचिव के रूप में केंद्र सरकार ने पीके मिश्रा को नियुक्त किया है। पीके मिश्रा पहले इस पद को संभाल रहे नृपेंद्र मिश्रा की जगह लेंगे। इससे पहले पीके मिश्रा मोदी के एडीशनल सेक्रेटरी थे। जबकि पूर्व कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा प्रधान सलाहकार का काम संभालेंगे।

गुजरात कैडर का दबदबा

पीके मिश्रा 1972 बैच के हैं और वे गुजरात कैडर से आते हैं। मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब भी पीके मिश्रा उनके साथ काम कर चुके हैं। प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर उनकी छवि तय सीमा में काम पूरा कराने वाले की है।

अगस्त में ही चले गए थे नृपेंद्र मिश्रा

नृपेंद्र मिश्रा ने इसी साल अगस्त में प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव का पद छोड़ दिया था। हालांकि सरकार ने उनसे दो सप्ताह और काम करने को कहा था। 1967 के उत्तर प्रदेश कैडर के आइएएस नृपेंद्र मिश्रा के लिए पीएमओ में एक विदाई समारोह भी रखा गया था। इस कार्यक्रम में पीएमओ में काम करने वालों के साथ-साथ कई बड़े नेता पहुंचे थे।

मोदी के बेहद करीबी  थे नृपेंद्र

नृपेंद्र मिश्रा को सबसे ताकतवर ब्यूरोक्रेट्स में जाना जाता है। वे मोदी के बहुत करीबी और खास माने जाते हैं। उन्होंने खुद ही इस पद से हटने की इच्छा जताई थी। प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें व्यक्तिगत रूप से दो हफ्ते और काम करने का अनुरोध किया था, जिसे उन्होंने मान लिया था। नृपेंद्र मिश्रा का विदाई समारोह प्रधानमंत्री के आवास पर ही हुआ था। जहां प्रधानमंत्री ने मिश्रा की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि नृपेंद्र मिश्रा ने मुझे तब निर्देशित किया जब मैं दिल्ली में बिलकुल नया था। उन्होंने कहा कि वो ऐसे अधिकारी हैं जो समझते हैं कि लोकतंत्र में कैसे काम किया जाता है। वो जानते हैं कि बड़े से बड़े विवाद को कैसे मानवीय संवेदनाओं के सहारे निपटाया जाता है। प्रधानमंत्री ने खुद ही उनके सेवानिवृत्त होने की जानकारी ट्विटर पर दी थी। 

मिश्रा 2006 से 2009 के बीच ट्राई के चेयरमैन भी रह चुके हैं। ट्राई का नियम है कि एक बार यहां चेयरमैन होने के बाद व्यक्ति केंद्र या राज्य सरकार का कोई भी पद नहीं ले सकता है। लेकिन मोदी सरकार ने एक  अध्यादेश लाकर ट्राई के नियमों में संशोधन कर नृपेंद्र मिश्रा को प्रिंसिपल सेक्रेटरी बनाया था।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से