Home देश सामान्य शेल्टर होम मामले में पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पति की होगी गिरफ्तारी, एसपी ने दिए आदेश

शेल्टर होम मामले में पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पति की होगी गिरफ्तारी, एसपी ने दिए आदेश

आउटलुक टीम - SEP 21 , 2018
शेल्टर होम मामले में पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पति की होगी गिरफ्तारी, एसपी ने दिए आदेश
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पति की होगी गिरफ्तारी
File Photo

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में चर्चा में आई बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है। एसपी बेगूसराय ने उनके घर से 50 जिंदा कारतूस मिलने के मामले में यह आदेश दिए हैं। पति पर मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ कथित संबंध होने के भी आरोप हैं।

विपक्ष के चौतरफा हमले से घिरी नीतीश सरकार में समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को शेल्टर होम मामले में अपने पति चंदेश्वर वर्मा का नाम आने पर पद से इस्तीफा देने पड़ा था। हालांकि उन्होंने कहा था कि इस मामले में जानबूझकर उनका नाम उछाला जा रहा है। सीबीआई ने 17 अगस्त को वर्मा के पटना स्थित आवास और उनके बेगूसराय स्थित ससुराल समेत राज्य के चार जिलों में उनके करीब 12 ठिकानों पर छापे मारे थे। छापेमारी के दौरान मंजू वर्मा के घर से सीबीआई की टीम को 50 जिंदा कारतूस मिले थे। इस मामले में सीबीआई के डीएसपी ने चेरिया बरियारपुर थाने में मामला दर्ज कराया था।

चार को किया गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम यौन उत्पीड़न कांड की जांच कर रही सीबीआईने मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के तीन स्टाफ के अलावा समाज कल्याण के सहायक निदेशक से पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। सीबीआइ ने सोनपुर और मुजफ्फरपुर में चार ठिकानों पर छापेमारी की। कई बैंक खाते भी फ्रीज किए जाने की बात सामने आई है। गिरफ्तार किये गए लोगों में गुड्डू, विजय और संतोष बालिका गृह के संचालक ब्रजेश के स्टाफ हैं जबकि एक समाज कल्याण विभाग के सहायक निदेशक रोजी रानी है।

17 बार की थी बात

मंत्री के पति पर एनजीओ के संचालक और मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से संबंधों का आरोप लगा था। मंजू वर्मा के पति चंद्रेश्वर ने इस कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से इस साल जनवरी से जून के बीच 17 बार बात की थी। इस मामले के सामने आने के बाद ही चंद्रेश्वर पर सीबीआई का शिकंजा कसना शुरू हुआ है। मंजू वर्मा के इस्तीफे के बाद से बिहार की राजनीति लगातार उबाल पर है। मंजू इस मामले में शुरू से ही खुद को और अपने पति को निर्दोष बताती रही हैं। बिहार के बेगूसराय जिले की अलग-अलग अदालतों ने 26 अगस्त को ही पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा और उनके पति चंद्रशेखर वर्मा की अग्रिम जमानत की अर्जी को खारिज कर दिया था।

निगरानी करेगा सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में सीबीआई की जांच की निगरानी करने का फैसला लिया है। कोर्ट ने केंद्रीय एजेंसी सीबीआई को चार हफ्तों के अंदर मामले में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा है। इसके साथ ही कोर्ट ने मीडिया को मामले की रिपोर्टिंग करते वक्त सावधानी बरतने के लिए कहा है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से