Home देश सामान्य लिकर किंग पोंटी चड्ढा का बेटा मनप्रीत सिंह चड्ढा धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार

लिकर किंग पोंटी चड्ढा का बेटा मनप्रीत सिंह चड्ढा धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार

JUN 13 , 2019
लिकर किंग पोंटी चड्ढा का बेटा मनप्रीत सिंह चड्ढा धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार
लिकर किंग पोंटी चड्ढा का बेटा मनप्रीत सिंह चड्ढा धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार
File Photo

दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्लू) ने कारोबारी मनप्रीत सिंह चड्ढा उर्फ मॉन्‍टी चड्ढा को धोखाधड़ी के मामलों में दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया है। यह गिरफ्तारी बुधवार रात को दिल्ली एयर पोर्ट पर हुई है। बता दें कि मनप्रीत सिंह चड्ढा शराब कारोबारी मरहूम पोंटी चड्ढा का बेटा है।  

मॉन्‍टी एयरपोर्ट से फुकेट भागने की फिराक में था

बताया जा रहा है कि पेशे से बिल्डर मॉन्‍टी एयरपोर्ट से फुकेट भागने की फिराक में था। तभी पुलिस ने एयरपोर्ट से उसे गिरफ्तार कर लिया और आज कोर्ट में उसे पेश किया जाएगा। आरोपी की एलओसी खुली हुई थी। मॉन्‍टी के खिलाफ शिकायत थी कि उसने कई निर्माण कंपनियां बनाकर लोगों से पैसे लेकर फ्लैट देने का वादा किया है। गाजियाबाद और नोएडा में पीड़ितों को 8 महीने के अंदर फ्लैट आवंटन का वादा करने के बाद अभी तक न तो फ्लैट मिला और न ही पैसा वापस मिला है।

खुफिया जानकारी के आधार पर पहले ही अलर्ट पर थी पुलिस

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, ईओडब्‍ल्‍यू ने मनप्रीत को बुधवार की रात नई दिल्‍ली के इंदिरा गाधी हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया है। खुफिया जानकारी के आधार पर पहले ही पुलिस अलर्ट पर थी। इससे पहले कि वह भागने में सफल हो पाता उसे दिल्ली पुलिस ने इंदिरा गांधी इंटनेशनल एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया।

मनप्रीत के खिलाफ कई लोगों ने शिकायत की थी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस का कहना है कि आरोपित मनप्रीत के खिलाफ कई लोगों ने शिकायत की थी कि उसने कई निर्माण कंपनियां बनाकर लोगों से पैसे लिए और फ्लैट देने का वादा किया, लेकिन उसका वादा झूठा निकला। बताया जा रहा है कि दिल्ली से सटे गाजियाबाद और नोएडा में निवेशकों को कुछ महीने में फ्लैट देने का वादा किया था, लेकिन सालों बीतने के बाद न तो फ्लैट दे पाया और न ही पैसे दे रहा था।

करीब 100 करोड़ रुपये से ज्‍यादा की धोखाधड़ी का आरोप

बड़ी संख्या में निवेशकों ने दर्ज शिकायत में मनप्रीत चड्ढा पर करीब 100 करोड़ रुपये से ज्‍यादा की धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। लोगों का कहना है कि 11 साल के बाद भी उन्‍हें प्लॉट नहीं मिले हैं। 2012 में पिता पॉन्‍टी चड्ढा और चाचा हरदीप की आपसी गोलीबारी में हुई मौत के बाद मनप्रीत चड्ढा ने कारोबार की जिम्मेदारी संभाली थी।

शराब कारोबारी पोंटी चड्ढा और उसके भाई हरदीप चड्ढा की आपसी गोलाबारी में मौत हो गई थी

बता दें कि वर्ष-2012 में दक्षिणी दिल्ली के छतरपुर स्थित एक फार्म हाउस में शराब कारोबारी पोंटी चड्ढा और उसके भाई हरदीप चड्ढा की आपसी गोलाबारी में मौत हो गई थी। दोनों भाई के बीच संपत्ति के स्वामित्व को लेकर विवाद था। उस दौरान उत्‍तराखंड अल्‍पसंख्‍यक आयोग के अध्‍यक्ष के गार्ड ने हरदीप को गोली मारी थी। गार्ड के पास कुल 25 राउंड गोलियां थी। हत्या के बाद पुलिस ने शराब कारोबारी पांटी चड्ढा के पहले पोस्टमार्टम के गड़बड़ी पाए जाने के बाद उसका दोबारा पोस्टमार्टम करवाया।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से