Home देश सामान्य टिक टॉक पर प्रतिबंध लगने के बाद हर घंटे 1 लाख बार डाउनलोड हो रहा भारतीय एप 'चिंगारी'

टिक टॉक पर प्रतिबंध लगने के बाद हर घंटे 1 लाख बार डाउनलोड हो रहा भारतीय एप 'चिंगारी'

आउटलुक टीम - JUN 30 , 2020
टिक टॉक पर प्रतिबंध लगने के बाद हर घंटे 1 लाख बार डाउनलोड हो रहा भारतीय एप 'चिंगारी'
टिक टॉक पर प्रतिबंध लगने के बाद हर घंटे 1 लाख बार डाउनलोड हो रहा भारतीय ऐप 'चिंगारी'
आउटलुक टीम

सोमवार को भारत सरकार द्वारा 59 चीनी एप पर बैन लगा दिया गया हैजिसमें सबसे ज्यादा प्रचलित और इस्तेमाल किया जाने वाला एप टिक टॉक भी शामिल है। टिक टॉक के बैन होने के साथ ही एक बड़ी खबर सामने आ रही है। टिक टॉक जैसा ही एक भारतीय एप जिसका नाम है चिंगारी वह अब गूगल प्ले स्टोर पर लगातार डाउनलोड किया जा रहा है।

निर्माता सुमित घोष ने ट्विटर पर दी जानकारी

इस एप के निर्माता ने ट्विटर पर यह जानकारी दी कि उनके इस एप को हर घंटे एक 1 लाख डाउनलोडर मिल रहे हैं। चिंगारी एप के निर्माता सुमित घोष ने बिजनेस इंसाइडर को बताया कि चिंगारी एप की टीम भारतीय सरकार और पीएमओ का सभी चाइनीस एप को बैन करने के लिए धन्यवाद देना चाहती है। आगे उन्होंने कहा भारतीय सरकार का यह कदम भारत को आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था की तरफ बढ़ाने में एक सफल कदम है। 

पिछले 10 दिनों में  मिली ज्यादा लोकप्रियता

गूगल प्ले स्टोर पर चिंगारी के नाम के साथ एक टैग भी जुड़ा हुआ है जिस पर लिखा है ओरिजिनल इंडियन शॉट वीडियो एप। इस एप को 4.7 स्टार रेटिंग और 25,00000 डाउनलोड मिले हैं। रिपोर्ट के अनुसार, इस एप को 6,00000 से 25,00000 यूजर पिछले 10 दिनों में मिले हैं।

इस कानून के तहत लगाया प्रतिबंध

सोमवार देर शाम भारत सरकार ने एक आधिकारिक सूचना दी जिसमें उसने कहा कि सरकार सूचना एवं प्रौद्योगिकी कानून के सेक्शन 69ए के तहत और हाल ही में चाइना की ओर से आ रही धमकियों को देखते हुए 59 एप्स को प्रतिबंधित करने का फैसला ले रही है।

आगे भारतीय सरकार ने अपने बयान में कहा  कि वे उन गतिविधियों में लगे हुए हैं जो भारत की संप्रभुता और अखंडताभारत की रक्षा और राज्य और सार्वजनिक व्यवस्था की सुरक्षा के लिए हानिकारक है।

पहले से हो रही थी खिलाफत

बता दें के इस प्रतिबंध के आधिकारिक रूप से आने से पहले भारत में चाइनीज एप्स के खिलाफ लगातार आवाज उठाई जा रही थी क्योंकि भारत और चाइना के बीच बॉर्डर पर विवाद बढ़ता ही जा रहा था। पिछले कई हफ्तों से भारत में एंटी चाइनीस और बॉयकॉट चाइनीस प्रोडक्ट्स जैसे नारे लगाए जा रहे हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से