Advertisement
Home देश सामान्य भ्रष्टाचार के आरोपों से आहत पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने पार्टी से दिया इस्तीफा; JDU को बताया डूबता जहाज, नीतीश को लेकर कही ये बात

भ्रष्टाचार के आरोपों से आहत पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने पार्टी से दिया इस्तीफा; JDU को बताया डूबता जहाज, नीतीश को लेकर कही ये बात

आउटलुक टीम - AUG 06 , 2022
भ्रष्टाचार के आरोपों से आहत पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने पार्टी से दिया इस्तीफा; JDU को बताया डूबता जहाज, नीतीश को लेकर कही ये बात
भ्रष्टाचार के आरोपों से आहत पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने पार्टी से दिया इस्तीफा; JDU को बताया डूबता जहाज, नीतीश को लेकर कही ये बात
ANI
आउटलुक टीम

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने शनिवार को  जनता दल (यूनाइटेड) से इस्तीफा दे दिया। पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद उन्होंने शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधा और जेडीयू को डूबता जहाज बताया। पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने खुद की पार्टी बनाने का बनाने पर विचार किया है।

जद (यू) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सिंह, जिन्हें पार्टी द्वारा एक और राज्यसभा कार्यकाल से इनकार करने के बाद अपना कैबिनेट बर्थ छोड़ना पड़ा, ने नालंदा जिले में अपने पैतृक आवास पर आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में यह घोषणा की।

उन्होंने कहा, "आरोप उन लोगों द्वारा एक साजिश है जिन्होंने मुझे केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने से ईर्ष्या की थी। मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि कांच के घरों में रहने वालों को दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकना चाहिए। मैं इसके द्वारा पार्टी की अपनी प्राथमिक सदस्यता भी छोड़ देता हूं।"

अपने  ऊपर लगे जमीन से जुड़े आरोपों से आहत पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह शनिवार को दिन भर राजनीतिक गलियारों से लेकर मीडिया की गलियारों में सुर्खियों में रहे और देर शाम पूर्व केंद्रीय मंत्री मीडिया से रूबरू हुए। इस मौके पर पूर्व केंद्रीय मंत्री थोड़े भावुक भी दिखे।

उऩ्होंने कहा कि जेडीयू पार्टी डूबता हुआ जहाज जो भी कार्यकर्ता इस डूबते हुए जहाज को छोड़ना चाहते हैं छोड़ दें। मैंने हमेशा पार्टी में सच्चे कार्यकर्ता के रूप में काम किया.।जेडीयू ने राजनीति की स्तर को तोड़ दिया। आरसीपी सिंह ने कहा कि सात जन्मों में सीएम नीतीश कभी प्रधानमंत्री नहीं बन पाएंगे, यह मैं दावा करता हूं। आरसीपी सिंह ने कहा कि अच्छी चुनौती दी गई है और मैं इसको स्वीकार करता हूं। उन्होंने कहा कि पार्टी ने नोटिस भेजा वो मिला नहीं है लेकिन लिखा क्या पूर्व मंत्री। उन्हें पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष लिखने में क्या शर्म आ रही है।

बता दें कि जेडीयू ने अपने दो कार्यकर्ताओं की शिकायत पर 2013 से 2022 के बीच में अर्जित संपत्ति के बारे में आरसीपी सिंह से 15 दिनों के भीरत स्पष्टीकरण मांगा था। अन्यथा वह पार्टी के अनुशासनात्मक कार्रवाई के दायरे में आएंगे।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से

Advertisement
Advertisement