Cop seeks permission to beg, says he is not receiving salary : Outlook Hindi
Home » देश » सामान्य » वेतन ना मिलने से परेशान पुलिसकर्मी ने मांगी भीख मांगने की इजाजत

वेतन ना मिलने से परेशान पुलिसकर्मी ने मांगी भीख मांगने की इजाजत

MAY 10 , 2018

पिछले दो महीने से वेतन ना मिलने की बात कहते हुए मुंबई पुलिस के एक कांस्टेबल ने ‘वर्दी पहनकर भीख मांगने’ की मंजूरी मांगी है। पुलिसकर्मी का कहना है कि वेतन ना मिलने के कारण वह अपने परिवार का गुजर बसर नहीं कर पा रहा है।

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, कांस्टेबल दन्यनेश्वर अहीरराव ने अपने विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों, पुलिस कमिश्नर दत्ता पदसालगिकर और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी में कांस्टेबल अहीरराव ने अपनी बीमार पत्नी की देखभाल और घरेलू खर्च निकालने के लिए भीख मांगने की मंजूरी देने को कहा है।

कांस्टेबल अहीरराव ने चिट्ठी में क्या लिखा

लोकल आर्म्स यूनिट से जुड़े अहीरराव ने चिट्ठी में लिखा कि उसने 20 मार्च से 22 मार्च के बीच छुट्टी ली थी लेकिन पत्नी का पैर टूटने के कारण वह छुट्टी खत्म होने पर काम के लिए नहीं पहुंचा।

उद्धव ठाकरे के घर ‘मातोश्री’ की सुरक्षा में लगे दल में तैनात अहीरराव ने दावा किया कि उसने अपने यूनिट के प्रभारी को पांच दिन की इमरजेंसी छुट्टी लेने की जानकारी दी थी। बाद में पत्नी के इलाज के बाद 28 मार्च को काम पर लौट आया। बाद में उसका वेतन रोक दिया गया और इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी गई।

मुझे अपनी बीमार पत्नी की देखभाल करनी होती है

कांस्टेबल ने पत्र में लिखा, ‘मुझे अपनी बीमार पत्नी की देखभाल करनी होती है, बुजुर्ग माता-पिता और एक बेटी का गुजर बसर करना होता है। इसके अलावा मुझे कर्ज की हर महीने किश्त देनी होती है लेकिन जब से वेतन रोका गया है, मैं ये खर्च ढोने में असमर्थ हूं। इसलिए मैं आपसे वर्दी पहनकर भीख मांगने की मंजूरी चाहता हूं।’

अहीरराव से और जानकारी के लिए संपर्क नहीं किया जा सका। संपर्क किए जाने पर लोकल आर्म्स यूनिट के पुलिस कमिश्नर वसंत जाधव ने कहा, ‘मामला प्रशासनिक विभाग के तहत आता है। मैं इस पर टिप्पणी नहीं कर सकता।’


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.