Home देश सामान्य गुड्डू पंडित पर राजबब्बर का पलटवार, माता पिता की नसीहत उन तक नहीं पहुंची तो मेरी क्या औकात

गुड्डू पंडित पर राजबब्बर का पलटवार, माता पिता की नसीहत उन तक नहीं पहुंची तो मेरी क्या औकात

आउटलुक टीम - APR 16 , 2019
गुड्डू पंडित पर राजबब्बर का पलटवार, माता पिता की नसीहत उन तक नहीं पहुंची तो मेरी क्या औकात
गुड्डू पंडित के बयान पर बोले राजबब्बर, माता पिता की नसीहत उन तक नहीं पहुंची तो मेरी क्या औकात
FILE PHOTO
आउटलुक टीम

चुनाव आयोग की सख्ती के बावजूद नेताओं की बदजुबानी थमती दिखाई नहीं दे रही है। इस बार एक नेता तो गाली-गलौज पर उतर आया है। फतेहपुर सीकरी से बसपा प्रत्याशी गुड्डू पंडित ने कांग्रेस प्रत्याशी राज बब्बर के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है। उनका बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस पर राजबब्बर ने पलटवार करते हुए कहा कि माता पिता की नसीहत उन तक नहीं पहुंची तो मेरी क्या औकात है। कांग्रेस ने चुनाव आयोग से इस पर संज्ञान लेने को कहा है।

एक समाचार चैनल पर उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार राज बब्बर के खिलाफ जमकर गाली गलौच की। सोशल मीडिया पर वायरल हुए बयान में फतेहपुर सीकरी से बसपा उम्मीदवार गुड्डू पंडित उर्फ श्रीभगवान शर्मा ने इसी सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार राज बब्बर को 'दौड़ाकर पीटने' की धमकी देते हुए दिखाई दे रहे हैं। गुड्डू पंडित फतेहपुर सीकरी से महागठबंधन के उम्मीदवार हैं। उन्हें बहुजन समाज पार्टी ने टिकट दिया है।

इन नेताओं पर आयोग ने दिखाई सख्ती

इससे पहले आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर चुनाव आयोग ने चार नेताओं पर उनके बयानों को लेकर कड़ी सख्ती दिखाई है। चुनाव आयोग ने योगी आदियत्यनाथ पर 3 दिन और मायावती पर 2 दिन के लिए चुनाव प्रचार, भाषण और बयानबाज़ी करने पर रोक लगा दी। दोनों नेताओं पर चुनाव आयोग का प्रतिबंध 16 अप्रैल सुबह 6 बजे से लागू हो गया है। वहीं इसके बाद आयोग ने आजम खान और मेनका गांधी के चुनाव प्रचार पर भी रोक लगा दी। आजम खान के चुनाव प्रचार पर 72 घंटे और मेनका गांधी के चुनाव प्रचार पर 48 घंटे के लिए बैन लगा दिया है। चुनाव आयोग ने संविधान के अनुच्छेद 324 के तहत प्रदत्त अधिकारों को इस्तेमाल करते हुये दोनों नेताओं के रवैये की आलोचना करते हुये देश में कहीं भी प्रचार अभियान में हिस्सा लेने से रोका है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से