Home » देश » सामान्य » हरियाणा के बालकनाथ मंदिर में महिला से दुष्कर्म के आरोप में बाबा अमरपुरी गिरफ्तार

हरियाणा के बालकनाथ मंदिर में महिला से दुष्कर्म के आरोप में बाबा अमरपुरी गिरफ्तार

JUL 21 , 2018

यौन शोषण मामले में आसाराम से लेकर नित्यानंद महाराज जेल की सजा काट रहे हैं। अभी इन बाबाओं को लेकर  चर्चा खत्म भी नहीं हुई थी कि हरियाणा में एक और बाबा सुर्खियों में आ गए हैं। इस बाबा का नाम अमरपुरी नागा है।

अमरपुरी को हरियाणा के टोहाना शहर में कई महिला श्रद्धालुओं से यौन शोषण करने के मामले में पुलिस ने हिरासत में लिया है। उसके साथ तीन महिला सहयोगियों को भी गिरफ्तार किया गया है। पुलिस द्वारा की गई छापेमारी में 120 महिलाओं के साथ संबंध बनाने के वीडियो मिले हैं।

महिलाओं से दुष्कर्म कर ऑनलाइन डाल देता था वीडियो

हरियाणा में फतेहाबाद के टोहाना में बाबा बालकनाथ मंदिर के बाबा अमरपुरी को पुलिस ने शुक्रवार शाम को गिरफ्तार किया था। तथाकथित बाबा पर महिलाओं का बलात्कार कर वीडियो बनाकर उसे ऑनलाइन डाल देता था।

इस मामले पर हरियाणा पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए कहा कि अमरपुरी को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है और मामले की जांच की जा रही है। हमने तथाकथित बाबा के परिसर में छापा मारा और हमने कुछ संदिग्ध वस्तुओं को भी बरामद किया है।जो सामान मिला है, उसकी जांच भी की जा रही है। भारी संख्या में वीडियो बरामद हुई हैं, जिन्हें खंगाला जा रहा है।

भूत-प्रेत के नाम पर महिलाओं को फंसाता था 

पुलिस ने बताया कि बाबा बालकनाथ मंदिर के पुजारी अमरपूरी उर्फ बिल्लू महिलाओं को भूत-प्रेत के नाम पर फंसाकर उन्हें नशीली दवाई देता था। जिससे की महिलाएं बेहोश हो जाती थी। इसके बाद यह बाबा उनके साथ मुंह काला करता था। इतना ही नहीं वह उन सभी महिलाओं को ब्लैकमेल करने के लिए उनका वीडियो भी बनाता था और फिर धमकाकर कई बार संबंध बनाता था।

पिछले साल बाबा पर एक महिला ने लगाया रेप का आरोप

गौरतलब है कि  पिछले साल 13 अक्टूबर को एक महिला ने बाबा अमरपुरी के खिलाफ बलात्कार का आरोप लगाया था। पिछले कुछ समय से बाबा के कुछ वीडियो चर्चा में हैं, जिनमें बाबा अलग-अलग लड़कियों के साथ आपत्तिजनक हालत में नजर आ रहा हैं। वहीं इस मामले में बाबा खुद को बेकसूर बता रहा है और उसका कहना है कि उसे फंसाया जा रहा है। 


 


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.