Home सिनेमा अंतरराष्ट्रीय एनएफटी: सितारों की कमाई का नया जरिया, आगे मनोरंजन जगत में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल संभव

एनएफटी: सितारों की कमाई का नया जरिया, आगे मनोरंजन जगत में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल संभव

एस.के. सिंह - NOV 22 , 2021
एनएफटी: सितारों की कमाई का नया जरिया, आगे मनोरंजन जगत में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल संभव
अमिताभ बच्चन

“अभी चुनिंदा सेलेब्रिटी ही इसे ला रहे, लेकिन आगे मनोरंजन जगत में बड़े पैमाने पर इस्तेमाल संभव”

दीपावली के दिन महानायक अमिताभ बच्चन की कोई फिल्म रिलीज नहीं हुई, लेकिन उन्होंने नौ लाख डॉलर (लगभग 6.5 करोड़ रुपये) की कमाई कर ली। यह संभव हुआ एनएफटी की नीलामी से। एनएफटी यानी नॉन फंजिबल टोकन किसी ऐसेट का डिजिटल रूप होते हैं। बिग बी ने अपनी आवाज में पिता हरिवंश राय बच्चन की कविता मधुशाला को नीलामी के लिए रखा था। इसके अलावा शोले, डॉन, दीवार और शहंशाह समेत सात फिल्मों के हाथ से बनाए और बच्चन के ऑटोग्राफ वाले पोस्टर थे। बेयॉन्डलाइव.क्लब की तरफ से 1 से 4 नवंबर तक आयोजित इस नीलामी में मधुशाला 7.56 लाख डॉलर में बिकी। पोस्टर पर हस्ताक्षर करते बच्चन का वीडियो 94,052 डॉलर में बिका। बोली जीतने वाले को उन पोस्टरों की मूल प्रति भी मिलेगी। बिग बी से संबंधित कुछ डिजिटल कलाकृतियां 66,900 डॉलर में नीलाम हुईं।

बच्चन बॉलीवुड में एनएफटी लांच करने वाले पहले शख्स हैं। उनके बाद सलमान ने भी सोशल मीडिया पर लिखा, “आ रहा हूं मैं एनएफटी लेके...।” अभिनेत्रियों में सबसे पहले सनी लियोनी ने ‘मिसफिज’ नाम से एनएफटी लांच किया है। कई दूसरे सितारों ने भी एनएफटी कंपनियों के साथ समझौते किए हैं।

एनएफटी में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होता है। क्रिप्टो करेंसी भी इसी टेक्नोलॉजी पर आधारित है। क्रिप्टो करेंसी की तरह एनएफटी भी के खरीदार के नाम ब्लॉकचेन में दर्ज रहती है। क्रिप्टो करेंसी फंजिबल होते हैं, यानी उनकी अदला-बदली की जा सकती है। लेकिन एनएफटी की अदला-बदली नहीं हो सकती। वे एक्सक्लूसिव होते हैं इसलिए ऊंची बोली लगती है।

एनएफटी की शुरुआत 2012-13 में हुई थी, लेकिन महामारी के दौरान जब मनोरंजन उद्योग ठप पड़ गया तो अनेक सेलेब्रिटी ने इसे कमाई का जरिया बनाया। हॉलीवुड अभिनेत्री पेरिस हिल्टन, लिंड्से लोहान, उद्योगपति इलोन मस्क की पूर्व प्रेमिका और संगीतकार ग्राइम्स भी एनएफटी लांच कर चुकी हैं।

तकनीकी रूप से देखा जाए तो कोई भी डिजिटल चीज एनएफटी के रूप में बेची जा सकती है। टि्वटर के सह-संस्थापक और सीईओ जैक डोर्सी ने 22 मार्च 2006 को किया गया अपना पहला ट्वीट एनएफटी के रूप में तीन लाख डॉलर में बेचा। उसे खरीदने वाले मलेशियाई उद्यमी सिनाइ एस्तावी ने कहा, “आने वाले वर्षों में लोगों को इसकी असली कीमत का अंदाजा लगेगा, मोनालिसा पेंटिंग की तरह।” इसी साल मार्च 2021 में डिजिटल आर्टिस्ट बीपल ने अपना एक कलेक्शन 6.9 करोड़ डॉलर में बेचा। डेविड हॉकनी हॉकनी का एक डिजिटल कलेक्शन 2018 में रिकॉर्ड नौ करोड़ डॉलर में बिका था।

फिलहाल चुनिंदा सेलेब्रिटी एनएफटी ला रहे हैं, पर आने वाले दिनों में इसका बड़े पैमाने पर इस्तेमाल हो सकता है। स्ट्रीमिंग और सब्सक्रिप्शन में तो यह जल्दी दिख सकता है। पारंपरिक तरीके से फिल्में बनाना और उनका डिस्ट्रीब्यूशन काफी खर्चीला होता है, जो नए लोगों के लिए एक बाधा है। नया फिल्म निर्माता अपने प्रोजेक्ट को एनएफटी के जरिए बेचकर फंड जुटा सकता है। फिल्म बनने के बाद निर्माता उसे टोकन के रूप में दर्शकों को बेच सकता है। हॉलीवुड में कुछ एनिमेशन फिल्मों में यह प्रयोग हुआ है। अमेरिकी रॉकबैंड किंग्स ऑफ लियॉन ने मार्च में एक एल्बम एनएफटी के रूप में जारी किया, जिससे उन्हें दो लाख डॉलर मिले। अमेरिकी डीजे ब्लाउ को एक रिलीज से 1.1 करोड़ डॉलर मिले।

भारत में बाय-यू-कॉइन, बाइनेंस समेत कई एक्सचेंज पर इनकी खरीद-बिक्री हो रही है। लेकिन खरीदने से पहले ध्यान रखें, अभी इस पर नियंत्रण का कोई कानूनी ढांचा नहीं है। कुछ लोग तो इसके खिलाफ हैं। उन्हें लगता है कि जो चीज अपने पास रखी नहीं जा सकती उस पर पैसा लगाना बेवकूफी है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से