Home » सिनेमा » सामान्य » #Metoo संगीतकार अनु मलिक पर सिंगर श्वेता पंडित ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

#Metoo संगीतकार अनु मलिक पर सिंगर श्वेता पंडित ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

OCT 18 , 2018

#Metoo कैंपेन के तहत संगीतकार अनु मलिक पर सिंगर श्वेता पंडित ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। श्वेता पंडित ने कहा है कि जब वह नाबालिग थीं तो मलिक ने उनका उत्पीड़न किया था और कैसे उनसे काम देने के बदले किस की मांग की गई थी।

ट्विटर पर एक लंबी पोस्ट में सिंगर श्वेता ने मलिक पर बच्चों के प्रति यौन आकर्षण रखने और यौन-उत्पीड़क होने का आरोप लगाते हुए कहा कि संगीतकार ने उनके साथ दुर्व्यवहार तब किया जब वह हिन्दी म्यूजिक इंडस्ट्री में नई थी। पंडित ने कहा, 'यह वर्ष 2000 था जब मुझे ‘मोहब्बतें’ फिल्म में मेन सिंगर के तौर पर लांच किया गया और मैं इस कामयाबी को आगे बढ़ाने के लिए दूसरे अच्छे गीत हासिल करने की कोशिश कर रही थी।

श्वेता ने कहा कि वह संगीतकार की प्रशंसक थीं। 2001 के मध्य में मलिक के प्रबंधक ने उन्हें अंधेरी के एम्पायर स्टूडियो में उनसे मिलने के लिए फोन कर बुलाया तो वह रोमांचित हो गईं। गायिका ने कहा, ‘जब मैं और मेरी मां मॉनीटर कक्ष में पहुंचे तो वह (मलिक) ‘आवारा पागल दीवाना’  फिल्म के लिए सुनिधि और शान के साथ समूह गीत रिकॉर्ड करा रहे थे। उन्होंने एक छोटे कैबिन में इंतजार करने को कहा। वहां सिर्फ मैं और वह थे।’

काम के बदले की थी किस की मांग

मलिक ने पंडित की आवाज परखने के लिए उनसे कुछ पक्तियां गाने को कहा। पंडित ने कहा, ‘ मैंने इतना अच्छा गाया कि उन्होंने कहा, ‘मैं तुम्हें सुनिधि और शान के साथ यह गाना दूंगा लेकिन पहले मुझे एक किस दो’ फिर वह मुस्कुराया। मैं इसे सबसे भयानक मुस्कुराहट के तौर पर याद करती हूं। मैं सन्न रह गई और चेहरा पीला पड़ गया। मैं तब सिर्फ 15 साल की थी और स्कूल में पढ़ती थी।'

आरोपों को किया खारिज

संगीतकार अनु मलिक ने इस मामले पर कहा कि मैं इस बारे में कोई बात नहीं करना चाहता हूं। आज कोई भी उठकर मुझे कुछ भी बोलेगा तो कैसे होगा। वहीं, मशहूर लिरिसिस्ट समीर अंजान ने सिरे से नकारा है। समीर ने लिखा कि मौके पर वह श्वेता और अनु मलिक के साथ मौजूद थे। उनका कहना है कि श्वेता के ये आरोप झूठे हैं और अनु मलिक उन्हें 'बेटी' कहकर बुला रहे थे। इंस्टाग्राम पोस्ट में समीर अंजान ने लिखा है, श्वेता पंडित का पोस्ट पढ़ने के बाद मैं यह लिख रहा हूं, क्योंकि साल 2001 में हुए इस वाक्ये के दौरान में भी स्टूडियो में मौजूद था। मुझे अच्छे से याद है कि श्वेता अपनी मां के साथ आई थीं।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.