Advertisement
Home सिनेमा सामान्य संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा का निधन, 84 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा का निधन, 84 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

आउटलुक टीम - MAY 10 , 2022
संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा का निधन, 84 साल की उम्र में ली आखिरी सांस
संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा का निधन, 84 साल की उम्र में ली आखिरी सांस
ट्विटर
आउटलुक टीम

भारतीय संगीतकार और संतूर वादक पंडित शिवकुमार शर्मा का मुंबई में कार्डियक अरेस्ट के कारण निधन हो गया। वह 84 वर्ष के थे। वह पिछले छह महीने से किडनी संबंधी समस्याओं से पीड़ित थे और डायलिसिस पर थे। इसकी जानकारी अमिताभ मट्टू ने ट्वीट कर दी। उन्होंने कहा, गहरी व्यक्तिगत प्रेरणा का स्रोत, मैं विहीन हूं, शांति! पं. शिवकुमार शर्मा के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लिखा- पंडित शिवकुमार शर्मा जी के निधन से हमारी सांस्कृतिक दुनिया को भारी क्षति पहुंची है। उन्होंने संतूर को वैश्विक स्तर पर लोकप्रिय बनाया। उनका संगीत आने वाली पीढ़ियों को मंत्रमुग्ध करता रहेगा। मुझे उनके साथ अपनी बातचीत अच्छी तरह याद है। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। शांति।

वहीं, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जाने माने संतूर वादक और संगीतकार पंडित शिव कुमार शर्मा के निधन पर मंगलवार को शोक प्रकट किया । राष्ट्रपति ने कहा कि वह जानकर बेहद दुखी हैं कि अब उनका (शिवकुमार शर्मा का) संतूर शांत हो गया।

राष्ट्रपति भवन ने कोविंद के हवाले से ट्वीट किया कि पंडित शिवकुमार शर्मा का संगीत भारतीय शास्त्रीय संगीत प्रेमियों को नि:शब्द कर देता था तथा उन्होंने जम्मू कश्मीर के पारंपरिक वाद्य यंत्र संतूर को लोकप्रिय बनाया। उन्होंने कहा, ‘‘यह जानकर बेहद दुखी हूं कि अब उनका संतूर शांत हो गया। उनके परिवार, परिजनों एवं प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं।’’

बता दें कि पंडित शिवकुमार शर्मा 84 साल के थे। उनके निधन की खबर से उनके चाहने वालों को काफी झटका लगा है। लोगों का कहना है कि उनका जाना भारतीय शास्त्रीय संगीत के लिए एक बड़ी क्षति है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, शिवकुमार शर्मा पिछले कुछ महीने से किडनी से जुड़ी समस्याओं से भी परेशान थे और उनका 6 महीने से डायलिसिस चल रहा था। जम्मू-कश्मीर में जन्में शर्मा ने संतूर को पूरी दुनिया में लोकप्रिय बनाया। उन्होंने संतूर को सितार और सरोद जैसे शास्त्रीय वादों की तरह लोकप्रिय बनाया।

शिवकुमार शर्मा ने बांसुरी वादक पंडित हरि प्रसाद चौरसिया के साथ मिलकर फिल्म सिलसिला, लम्हे और चांदनी जैसे मशहूर फिल्मों का म्यूजिक दिया था।

गौरतलब है कि पंडित शिव कुमार शर्मा का सिनेमा जगह में अहम योगदान रहा। बॉलीवुड में 'शिव-हरी' नाम से मशहूर शिव कुमार शर्मा और हरि प्रसाद चौरसिया की जोड़ी ने कई सुपरहिट गानों में संगीत दिया था। इसमें से सबसे प्रसिद्ध गाना फिल्म 'चांदनी' का 'मेरे हाथों में नौ-नौ चूड़ियां' रहा, जो दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी पर फिल्माया गया था।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से

Advertisement
Advertisement