Home सिनेमा बॉलीवुड जानिए पानीपत का ट्रेलर क्यों बना अफगानिस्तान में चर्चा का विषय

जानिए पानीपत का ट्रेलर क्यों बना अफगानिस्तान में चर्चा का विषय

आउटलुक टीम - NOV 06 , 2019
जानिए पानीपत का ट्रेलर क्यों बना अफगानिस्तान में चर्चा का विषय
जानिए पानीपत का ट्रेलर क्यों बना अफगानिस्तान में चर्चा का विषय
आउटलुक टीम

अर्जुन कपूर, संजय दत्त, कृति सेनन स्टारर मचअवेटेड फिल्म पानीपत का ट्रेलर रिलीज हो चुका है। ये फिल्म पानीपत की ऐतिहासिक लड़ाई पर आधारित है, जो अब्दाली और मराठाओं के बीच साल 1761 में लड़ी गई थी। इस फिल्म को आशुतोष गोवारिकर ने डायरेक्ट किया है। फिल्म छह दिसंबर को रिलीज हो रही है। ट्रेलर के रिलीज होते ही सोशल मीडिया पर इसकी खूब चर्चा हो रही है। हालांकि ट्रेलर को ज्यादातर नेगेटिव रिस्पॉन्स ही मिल रहे हैं। कुछ लोग फिल्म का ट्रेलर देखने के बाद इसकी तुलना बाजीराव मस्तानी और पद्मावत के साथ कर रहे हैं। इस फिल्म में अभिनेता संजय दत्त दुर्रानी साम्राज्य के संस्थापक अहमद शाह अब्दाली की भूमिका निभा रहे हैं।

अहमद शाह बाबा के नाम से जाना जाता अहमद शाह अब्दाली

भारत के सोशल मीडिया की प्रतिक्रियाओं के अलावा अफगानिस्तान सोशल मीडिया में भी लोगों ने भिन्न भिन्न प्रकार की प्रतिक्रिया दी हैं। कुछ फेसबुक और ट्विटर यूजर्स ने भारतीय फिल्म निर्माताओं और प्रशासन को चेताया है कि अब्दाली के किरदार को नकारात्मक न दिखाया जाए। दरअसल अब्दाली को अफगान सम्मान से 'अहमद शाह बाबा' कहते हैं।

अपमान ना करने की लगाई गुहार

अब्दुल्ला नूरी नाम के एक यूजर ने ट्वीट किया कि डियर बॉलिवुड, मैं अफगानिस्तान से हूं और लाखों अन्य अफगानों की तरह बॉलीवुड का फैन हूं। संजय दत्त मेरे पसंदीदा अभिनेता हैं। मुझे उम्मीद है कि पानीपत फिल्म में अहमद शाह दुर्रानी का कोई अपमान नहीं किया होगा।

अलग तरह के नजरिए को भी स्वीकार करने की अपील

हालांकि कुछ अन्य यूजर्स ने समय से पहले प्रतिक्रिया देने को गलत बताया है और अब्दाली की ऐतिहासिक भूमिका पर अलग तरह के नजरिए को भी स्वीकार करने की अपील की है। मोहम्मद कासिल अकबर सफी ने पश्तो भाषा के शमशाद टीवी की ओर से इस विषय पर डाले गए पोस्ट पर कमेंट किया है कि अहमद शाह बाबा हमारे हीरो हैं। हमें उनपर गर्व है। हालांकि, उन्हें (भारतीयों को) युद्ध में काफी नुकसान उठाना पड़ा था। वे उनके लिए हीरो नहीं हैं।

पूर्व राजदूत शाइदा अब्दाली ने भी किया ट्वीट

एक दिन पहले संजय दत्त की ओर से ट्विटर पर जारी पोस्टर पर कॉमेंट करते हुए भारत के लिए अफगानिस्तान के पूर्व राजदूत शाइदा अब्दाली ने ट्वीट करते हुए कहा डियर संजय दत्त जी, ऐतिहासिक तौर पर भारतीय सिनेमा की भारत और अफगान संबंधों को मजबूत करने में अहम भूमिका रही है। मुझे उम्मीद है कि 'पानीपत' फिल्म ने हमारे साझा इतिहास के इस अहम घटनाक्रम को लेकर इस बात को ध्यान में रखा होगा।

संजय दत्त ने कहा रोल खराब होता तो वो उसे करते ही नहीं

वहीं मुंबई में अफगानिस्तान के वाणिज्य दूतावास के अधिकारी नसीम शरीफी ने इस बात का जवाब देते हुए ट्वीट कर कहा कि पिछले डेढ़ साल से भारत में मौजूद अफगान राजनयिक ये सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि पानीपत फिल्म में अहमद शाह बाबा का अपमान न हो। इस तरह का कोई भी अफगान इसे बर्दाश्त नहीं कर सकता है। संजय दत्त ने मुझे भरोसा दिलाया है कि अगर अहमद शाह बाबा का रोल खराब होता तो वो उसे करते ही नहीं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से