Home » अर्थ जगत » शेयर बाजार » 759 अंकों की गिरावट के साथ 34,001 के स्तर पर बंद हुआ शेयर बाजार

759 अंकों की गिरावट के साथ 34,001 के स्तर पर बंद हुआ शेयर बाजार

OCT 11 , 2018

दिनभर के कारोबार के बाद भारतीय शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ। आज शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स ने 1000 अंकों की गिरावट के साथ और निफ्टी ने भी 277 अंक गिरकर कारोबार की शुरुआत की थी। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 759.74 अंक गिरकर 34,001.15 के स्तर पर बंद हुआ। निफ्टी 225.45 अंक गिरकर 10,234.65 के स्तर पर बंद हुआ।

आज दोपहर सेंसेक्स ने 571 अंकों की गिरावट के साथ 34,189.73 के स्तर पर कारोबार किया। वहीं, निफ्टी 174.25 अंक फिसलकर 10,285.85 के स्तर पर कारोबार किया था। गुरुवार सुबह भारतीय शेयर बाजार में भारी गिरावट देखने को मिली। सेंसेक्स करीब 1000 अंक नीचे गिरकर कारोबार कर रहा था। वहीं, निफ्टी भी 277 अंक से ज्यादा टूट गया था। 

सेंसेक्स और निफ्टी में 2.5 फीसदी से ज्यादा की कमजोरी के साथ कारोबार देखने को मिल रहा था। सेंसेक्स 1000 अंकों की गिरावट के साथ 33,923 पर खुला। वहीं निफ्टी भी 277 अंकों की गिरावट के साथ 10,193.00 पर खुला था।

पांच मिनट में निवेशकों के 4 लाख रुपये डूबे

बाजार में मायूसी का आलम यह रहा कि कारोबार शुरू होने के कुछ मिनटों में ही सेंसेक्स 1000 अंक से ज्यादा गिर गया।बताया जा रहा है कि शेयर बाजार में इस बड़ी गिरावट से हालत यह रही कि महज पांच मिनट में निवेशकों के 4 लाख करोड़ रुपये बाजार से बाहर हो गए।  उधर, गुरुवार को डॉलर के मुकाबले रुपया भी 74.47 के रेकॉर्ड निचले स्तर पर आ गया। 

मिडकैप और स्मॉलकैप में भी गिरावट

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली दिख रही है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 3.3 फिसदी गिरा जबकि निफ्टी के मिडकैप 100 इंडेक्स में 3.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स करीब 3 फीसदी लुढ़का है।

इन शेयरों में भी गिरावट

SBI के शेयर में 4 फीसदी, इंडिया बुल्स हाउसिंग फाइनेंस 8 फीसदी, वेदांता 4 फीसदी, हेक्सावेयर 6.5 फीसदी, वोल्टास, पेज इंडस्ट्रीज, यूनियन बैंक 4 फीसदी की गिरावट आई। हिंडाल्को 4 फीसदी, एचयूएल 2.8, एचडीएफसी 2.75 फीसदी, ग्रासिम 4.6 फीसदी, रिलायंस 2 फीसदी और बैंक ऑफ इंडिया 4 फीसदी तक गिर गया।

अमेरिकी बाजारों में भी बड़ी गिरावट 

बुधवार को अमेरिकी बाजारों में बड़ी गिरावट दर्ज की गई। एसएंडपी 500 इंडेक्स और डाओ जोंस इंडेक्स में 8 फरवरी 2018 के बाद सबसे बड़ी गिरावट आई। बाजारों पर ब्याज दरों में तेज उछाल का दबाव है। 10 साल की बॉन्ड यील्ड ने 7 साल की नई ऊंचाई छुई है।

यूएस ट्रेजरी यील्ड्स में बढ़ोतरी से निवेशक रिस्की एसेट्स से दूर हो रहे हैं। टेक शेयरों की जोरदार पिटाई से अमेरिकी बाजारों में तेज गिरावट देखने को मिली है। टेक्नोलॉजी सेक्टर के लिए 7 साल का सबसे खराब दिन रहा। बुधवार के कारोबार में डाओ जोंस  832 अंक यानी 3.15 फीसदी गिरकर 25,599 के स्तर पर बंद हुआ।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.