Advertisement
Home अर्थ जगत इन्वेस्ट राजस्थान शिखर सम्मेलन की हुई शुरुआत, अदाणी समूह ने ₹65,000 करोड़ के निवेश का किया वादा

इन्वेस्ट राजस्थान शिखर सम्मेलन की हुई शुरुआत, अदाणी समूह ने ₹65,000 करोड़ के निवेश का किया वादा

आउटलुक टीम - OCT 07 , 2022
इन्वेस्ट राजस्थान शिखर सम्मेलन की हुई शुरुआत, अदाणी समूह ने ₹65,000 करोड़ के निवेश का किया वादा
इन्वेस्ट राजस्थान शिखर सम्मेलन की हुई शुरुआत, अदाणी समूह ने ₹65,000 करोड़ के निवेश का किया वादा
आउटलुक टीम

राजस्थान ने आज इन्वेस्ट राजस्थान समिट 2022 के पहले दिन की मेजबानी की। राजस्थान सरकार द्वारा आयोजित, "इन्वेस्ट राजस्थान समिट" का पहला दिन 7 अक्टूबर, 2022 को जयपुर में शुरू हुआ। इस उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शामिल हुए।

शिखर सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए, अशोक गहलोत ने कहा, "अगर हम अन्य राज्यों के साथ जीडीपी की तुलना करते हैं, तो राजस्थान सातवें स्थान पर आता है। उद्यमिता के लिए बहुत सारे संसाधन उपलब्ध हैं।राजस्थान उत्तर भारत में विभिन्न प्रकार के छोटे, मध्यम और बड़े उद्यमों की स्थापना के साथ एक विनिर्माण केंद्र के रूप में उभरा है।"

उन्होंने कहा, "शिखर सम्मेलन इन सभी प्रतिबद्धताओं और चर्चाओं के लिए एक मील का पत्थर साबित होगा।"

अदाणी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी में भी इन्वेस्ट राजस्थान 2022 शिखर सम्मेलन में भाग लिया। उन्होंने उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा, "अडानी समूह ने राजस्थान में कई औद्योगिक क्षेत्रों में ₹35,000 करोड़ से अधिक का निवेश किया। नवीकरणीय व्यवसाय में अपना निवेश जारी रखते हुए, ₹50,000 करोड़ के निवेश के साथ एक और 10,000 मेगावाट कार्यान्वयन के अधीन है।"

गौतम अडानी ने आगे कहा, "सभी चल रहे और भविष्य के निवेशों को मिलाकर, हम अगले 5 से 7 वर्षों में राजस्थान में अतिरिक्त ₹ 65,000 करोड़ का निवेश करने और 40,000 से अधिक प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार सृजित करने की उम्मीद करते हैं।"

वहीं, उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री श्रीमती शकुंतला रावत ने कहा, “निवेश और रोजगार के मामले में राजस्थान को शीर्ष पर रखना हमारे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का सपना है। डीएमआईसी राजस्थान में विकास की धुरी साबित होगी और राज्य की देश के 40 प्रतिशत बाजारों
तक पहुंच है। हमारा राज्य जस्ता और सीसा का एकमात्र उत्पादक है और देश में खनिजों के लिए दूसरे स्थान पर है, जो सिरेमिक क्षेत्र के लिए आवश्यक हैं। समावेशी संतुलित औद्योगिक विकास के विजन के लिए औद्योगिक नीति लागू की गई है।"

उद्घाटन सत्र के दौरान मुख्यमंत्री द्वारा 51 एमओयू और एलओआई, 25 औद्योगिक क्षेत्र और राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना (आरआईपीएस) 2022 का भी शुभारंभ किया गया। इन सम्मेलनों का मुख्य उद्देश्य उल्लेखनीय व्यावसायिक उद्यमियों, निवेशकों, विचारकों, और नीति और राय निर्माताओं के विभिन्न समूहों को अपने-अपने क्षेत्रों की तैयारियों पर चर्चा करने के लिए एक साथ लाना है।

राज्य सरकार ने ₹10.44 लाख करोड़ से अधिक के निवेश को आकर्षित करके एक नया बेंचमार्क स्थापित किया है। राष्ट्रीय भागीदार के रूप में सीआईआई के सहयोग से शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। इस समिट में दुनिया भर से 4,000 से ज्यादा मेहमान शामिल हो रहे हैं। 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से

Advertisement
Advertisement