Home अर्थ जगत सामान्य जानें क्या है ‘प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना' जिसका आज पीएम मोदी करेंगे शुभारंभ

जानें क्या है ‘प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना' जिसका आज पीएम मोदी करेंगे शुभारंभ

आउटलुक टीम - MAR 05 , 2019
जानें क्या है ‘प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना' जिसका आज पीएम मोदी करेंगे शुभारंभ
जानें क्या है ‘श्रम योगी मानधन योजना' जिसका आज पीएम मोदी करेंगे शुभारंभ
File Photo
आउटलुक टीम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों दो दिवसीय गुजरात दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने मंगलवार को गैरसंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए पेंशन योजना 'पीएम श्रमयोगी मानधन योजना' लॉन्च किया। अहमदाबाद से इस योजना को औपचारिक रूप से लांच किया गया। PMSYM स्कीम के लिए 15 फरवरी से रजिस्ट्रेशन भी शुरू कर दिया गया है। इसे लागू करने की जिम्मेदारी भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) को दी गई है। रजिस्ट्रेशन के लिए एलआईसी  के बड़े नेटवर्क का इस्तेमाल किया जा रहा है।

‘श्रम योगी मानधन’ योजना के अंतर्गत उन श्रमिकों, जो असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे हैं, को जोड़ा जाएगा। इस योजना का पूर्ण लाभ असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को दिलाना राज्य सरकारों की प्राथमिकता होगी। आजादी के बाद पहली बार असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के विकास को देखते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस योजना को पूरे देश में लागू करने जा रहे हैं।

इस योजना का इन्हें मिलेगा लाभ

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए यह एक महत्वाकांक्षी पेंशन योजना है। इस योजना का लाभ वैसे असंगठित कर्मकार जिसकी मासिक आय 15,000 रुपये से अधिक नहीं है और उम्र 18 से 40 वर्ष तक है उसे मिल सकेगा। इस पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए श्रमिक को मासिक अंशदान के रूप में 55 रुपये से लेकर 200 रुपये तक मासिक किस्त जमा करनी होगी। नियमित अंशदान करने एवं 60 वर्ष की आयु पूरी होने के बाद 3000 रुपये की मासिक पेंशन मिलेगी।

पेंशन प्राप्त करने के दौरान मृत्यु होने पर उनके आश्रित परिवार पत्नी/पति को पेंशन का 50 फीसदी राशि प्रतिमाह मिल सकेगी।

गुजरात में 1.75 लाख रजिस्ट्रेशन

बताया यजा रहा है कि 15 फरवरी से इस स्कीम के लिए रजिस्ट्रेशन लागू किए जाने के बाद से गुजरात में अभी तक इस स्कीम के तहत 1.75 श्रमिकों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। अगर पूरे देश की बात की जाए तो 5.56 लाख श्रमिक इस पेंशन स्कीम तहत आवेदन कर चुके हैं।

15 हजार से कम इनकम वाले ही ले सकेंगे लाभ

सरकार की तरफ से असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ कर्मचारियों को रिटायरमेंट के बाद न्यूनतम पेंशन की गारंटी दी जाएगी। सरकार की तरफ से शुरू की गई इस योजना का फायदा ऐसे मजदूरों को मिलेगा जिनकी मासिक आमदनी 15 हजार रुपये से कम है। सरकार के इस कदम का फायदा घरों में काम करने वाली मेड, ड्राइवरों, प्लबंर, बिजली का काम करने वाले कामगारों को मिल सकता है यानी ऐसे लोग जो मासिक आधार पर 15 हजार से कम कमा पाते हैं, उनको इस दायरे में लाया जाएगा।

बजट पेश करते हुए सरकार ने की थी इस योजना की घोषणा

बता दें कि 1 फरवरी को केंद्र सरकार ने बजट पेश करते हुए प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना की घोषणा की थी। इस योजना के तहत असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को 3000 रुपये मासिक पेंशन देने का प्रावधान है। इस योजना का लाभ लेने वाले उम्मीदवार को प्रीमियम देना होगा।

इस योजना के लिए जानें कितना देना होगा प्रीमियम

अगर कोई श्रमिक 18 वर्ष की आयु में इस योजना का हिस्सा बनता है तो उसे 55 रुपये प्रीमियम देना होगा। 29 वर्ष की आयु वाले को 100 रुपये प्रीमियम अदा करना होगा। इस तरह PMSYM का लाभ लेने के लिए श्रमिक को 55 रुपये से 200 रुपये मासिक तक का प्रीमियम देना होगा। इस योजना से 10 करोड़ लोगों को फायदा होगा और स्वघोषणा के आधार पर लाभार्थियों की सूची तय की जाएगी।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से