Home अर्थ जगत सामान्य पीएम मोदी ने रिजर्व बैंक की दो योजनाओं को किया लॉन्च, जानें आम लोगों को क्या होगा फायदा?

पीएम मोदी ने रिजर्व बैंक की दो योजनाओं को किया लॉन्च, जानें आम लोगों को क्या होगा फायदा?

आउटलुक टीम - NOV 12 , 2021
पीएम मोदी ने रिजर्व बैंक की दो योजनाओं को किया लॉन्च, जानें आम लोगों को क्या होगा फायदा?
पीएम मोदी ने रिजर्व बैंक की दो योजनाओं को किया लॉन्च, जानें आम लोगों को क्या होगा फायदा?
ट्विटर
आउटलुक टीम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की दो नई स्कीम्स को लॉन्च किया है। इन योजनाओं का आम आदमी को काफी फायदा होगा। सरकारी प्रतिभूतियों में आम आदमी के निवेश को आसान बनाने और बैंकों के बारे में शिकायत समाधान प्रक्रिया को आसान बनाने के बारे में है। बता दें कि ये आरबीआई रिटेल डायरेक्ट स्कीम और रिजर्व बैंक इंटिग्रेटेड ओंबड्समैन स्कीम हैं। देश में आम लोगों को निवेश का एक सुरक्षित और आसान जरिया मिलेगा।

इस अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि आज जिन दो योजनाओं को लॉन्च किया गया है, उससे देश में निवेश के दायरे का विस्तार होगा और कैपिटल मार्केट्स को एक्सेस करना, निवेशकों के लिए अधिक आसान, अधिक सुरक्षित बनेगा। अब लोगों को सुरक्ष‍ित निवेश का एक और विकल्प मिल गया है। देश के बहुत बड़े वर्ग को गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में सीधा निवेश करने में आसानी होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इन योजनाओं की शुरुआत की। इस मौके पर भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव भी मौजूद रहे। लॉन्च के मौके पर, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि वे इस बात की सराहना करती हैं कि जिस तरह रिजर्व बैंक ने महामारी के दौरान वित्त मंत्रालय के साथ मिलकर काम किया है।

लॉन्च के मौके पर, पीएम मोदी ने कहा कि इस महामारी के दौरान आरबीआई ने बहुत प्रशंसनीय काम किया है। उन्होंने कहा कि यह समय देश के विकास में बहुत अहम भूमिका रखता है। उन्होंने कहा कि इसमें आरबीआई की भूमिका भी अहम है और उन्हें पूरी उम्मीद है कि आरबीआई इस पर खरा उतरेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि आरबीआई ने सामान्य लोगों की सुविधा को बढ़ाने के लिए, उन्हें ध्यान में रखते हुए लगातार अनेक कदम उठाए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस योजनाओं से निवेश के दायरे का विस्तार होगा। कैपिटल मार्केट को एक्सेस करना और आसान और सुरक्षित बनेगा। इससे सरकारी सिक्योरिटीज में निवेश का सरल और सुरक्षित जरिया मिल गया है। उन्होंने कहा कि वन नेशन और वन ओंबड्समैन ने साकार रूप लिया है। उनके मुताबिक, आप शिकायत का समाधान करने में कितने मजबूत हैं, यही लोकतंत्र की सबसे बड़ी बात है।

इन दो योजनाओं का नाम हैं- रीटेल डायरेक्ट स्कीम और रिजर्व बैंक इंटीग्रेटेड ऑम्बड्मैन स्कीम (एकीकृत लोकपाल योजना)। आइए जानते हैं कि क्या हैं ये योजनाएं और इनका आम आदमी को क्या फायदा मिलेगा? 

रीटेल डायरेक्ट स्कीम 

आजतक की खबर के मुताबिक, इस स्कीम के द्वारा छोटे आम निवेशकों की पहुंच सरकारी प्रतिभूतियों तक बढ़ाने की कोशिश होगी। इसके तहत केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा जारी प्रतिभूतियों में लोगों के सीधे निवेश को बढ़ावा देने के लिए एक रोडमैप तैयार किया जाएगा।

इससे आम निवेशक आसानी से रिजर्व बैंक की वेबसाइट पर ऑनलाइन खाता खोलकर सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश कर पाएंगे। अभी तक इनमें संस्थागत निवेश ही ज्यादा है। इसके लिए रिजर्व बैंक किसी तरह का चार्ज भी नहीं लेगा यानी इस सेवा की कोई फीस नहीं होगी।

रिजर्व बैंक एकीकृत लोकपाल योजना 

रिजर्व बैंक की एकीकृत लोकपाल योजना के द्वारा देश में लोगों द्वारा बैंकों की शिकायतों के बारे में समाधान प्रक्रिया में और सुधार करने की कोशिश की जाएगी। इसके पीछे सोच यह है कि आम लोगों की शिकायतों का समाधान जल्द और और आसान तरीके से हो सके। इस स्कीम की थीम- एक देश, एक लोकपाल बनाई गई है। इसके तहत ग्राहकों अपनी शिकायत एक ही पोर्टल, एक ई-मेल और एक पत पर कर सकेंगे। 

इस एक विंडो के द्वारा बैंक ग्राहक अपनी शिकायतें फाइल कर सकेंगे, दस्तावेज जमा कर पाएंगे और शिकायतों की प्रगति की निगरानी करते हुए अपना फीडबैक भी दे पाएंगे।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से