Home अर्थ जगत सामान्य तीसरी तिमाही में लैंक्सेस की बिक्री 33.5 प्रतिशत बढ़ी, चुनौतीपूर्ण माहौल में भी पकड़ बनाए रखी मजबूत

तीसरी तिमाही में लैंक्सेस की बिक्री 33.5 प्रतिशत बढ़ी, चुनौतीपूर्ण माहौल में भी पकड़ बनाए रखी मजबूत

आउटलुक टीम - NOV 22 , 2021
तीसरी तिमाही में लैंक्सेस की बिक्री 33.5 प्रतिशत बढ़ी, चुनौतीपूर्ण माहौल में भी पकड़ बनाए रखी मजबूत
तीसरी तिमाही में लैंक्सेस की बिक्री 33.5 प्रतिशत बढ़ी, चुनौतीपूर्ण माहौल में भी पकड़ बनाए रखी मजबूत
आउटलुक टीम

स्पेशियलिटी केमिकल्स कंपनी लैंक्सेस ने बेहद चुनौतीपूर्ण वातावरण में भी अपनी पकड़ को मजबूत बनाए रखा है। कच्चे माल, ऊर्जा और माल ढुलाई लागत में तेज वृद्धि के बावजूद, 2021 की तीसरी तिमाही में एबिटा (पूर्व असाधारण स्थिति) 44 प्रतिशत बढ़कर 27.8 मिलियन यूरो हो गया, जो पिछले साल की समान तिमाही में 193 मिलियन यूरो था।

सालाना आधार पर 33.5 प्रतिशत की वृद्धि के साथ, 2021 की तीसरी तिमाही में लैंक्सेस की बिक्री 1.951 बिलियन यूरो रही। 68 मिलियन यूरो के साथ परिचालन से होने वाली शुद्ध आय 2020 की तीसरी तिमाही में अधिक रही, जब कंपनी की आय 25 मिलियन यूरो रही थी। यह परिचालन व्यवसायों के बेहतर विकास और एमरैल्‍ड कलामा केमिकल से मिले योगदान के कारण हुआ।

कंपनी की शानदार आय को सभी सेगमेंट की मजबूती, विशेषकर स्पेशियलिटी एडिटिव्स और इंजीनियरिंग मैटेरियल्स की मजबूती से बल मिला। लागत में हुई वृद्धि की भरपाई के लिए लैंक्सेस ने उच्च बिक्री मूल्य का सहारा लिया। इस वित्तीय वर्ष में पूर्ण किए गए तीन अधिग्रहण, विशेष रूप से एमरैल्ड कलामा केमिकल के अधिग्रहण ने भी अच्छे नतीजों में योगदान दिया। प्रतिकूल विनिमय दर, मुख्य रूप से अमेरिकी डॉलर से, और विशेष रूप से उच्च ऊर्जा और माल ढुलाई लागत ने आय में होने वाले और इजाफे को बाधित किया। एबिटा (पूर्व असाधारण स्थिति) मार्जिन तीसरी तिमाही में बढ़कर 14.2 प्रतिशत हो गया, जो पूर्व-वर्ष की तिमाही में 13.2 प्रतिशत था।

लैंक्सेस एजी के बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट के चेयरमैन मैथियास जैशर्ट ने कहा, "इस वर्ष की तीसरी तिमाही में भी वृद्धि देखने को मिली। हमारा परिचालन व्यवसाय सकारात्मक रूप से विकसित होता रहा, और हम कच्चे माल की काफी बढ़ी हुई लागत का सफलतापूर्वक सामना करने में कामयाब रहे। आईएफएफ माइक्रोबियल कंट्रोल के घोषित अधिग्रहण के साथ, हम भविष्य में अपने उपभोक्ता संरक्षण खंड का फिर से विस्तार करेंगे। यह हमें और अधिक स्थिर और अधिक लाभदायक बनाने में मदद देगा।" उन्होंने कहा, "हालांकि, ऊर्जा, कच्चे माल और माल ढुलाई लागत में हुई अभूतपूर्व वृद्धि की वजह से हम प्रभावित हुए हैं। हमें उम्मीद है कि चौथी तिमाही में लागत का दबाव और भी बढ़ेगा।’’

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से