Home » अर्थ जगत » सामान्य » तेल की कीमतों में बढ़त बरकरार, दिल्ली में 82.36 रुपए प्रति लीटर पहुंचा पेट्रोल

तेल की कीमतों में बढ़त बरकरार, दिल्ली में 82.36 रुपए प्रति लीटर पहुंचा पेट्रोल

OCT 11 , 2018

देश में पेट्रोल-डीजल के आसमान छू रहे दामों के बीच गुरुवार को भी इनके दरों में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। राजधानी में पेट्रोल की कीमतों में जहां 10 पैसे की वृद्धि हुई है, वहीं डीजल के दामों में 0.27 पैसे की। गुरुवार को हुई इस बढ़त के बाद राजधानी में अब पेट्रोल 82.36 रुपए प्रति लीटर और डीजल 74.62 रुपए प्रति लीटर मिलने लगा है।

वहीं मुंबई में पेट्रोल में 0.9 रुपए और डीजल में 0.29 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। यहां दाम बढ़ने के बाद पेट्रोल 87.82 रुपए और डीजल 78.22 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है।

कल नहीं बढ़ा था पेट्रोल का दाम

बुधवार को पेट्रोल के दाम कम तो नहीं हुए लेकिन इसमें इजाफा भी दर्ज नहीं किया गया। वहीं, डीजल में राहत नहीं मिल सकी। डीजल के दाम में 24 पैसे की बढ़ोतरी दर्ज की गई। कल दिल्‍ली में पेट्रोल 82.26 रुपये प्रति लीटर बेचा जा रहा था, जबकि डीजल के दाम में 24 पैसे का इजाफा हुआ। दिल्‍ली में डीजल 74.35 रुपये प्रति लीटर बेचा जा रहा था। मुंबई में बुधवार को पेट्रोल 87.73 रुपये प्रति लीटर बेचा जा रहा था जबकि डीजल 77.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था।

विपक्ष ने घेरा

देशभर में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस लगातार केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर है। कांग्रेस ने केंद्र पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि सरकार ‘जनता को निरंतर लूटने’ का काम कर रही है।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘मोदी सरकार पेट्रोल-डीज़ल पर जनता को निरंतर लूट रही है। लोगों की जेब काटना भाजपा का परम कर्तव्य बन गया है।’ उन्होंने कहा,‘पिछले 3 दिनों में (दिल्ली) में पेट्रोल के दाम 0.53 रुपये प्रति लीटर बढ़े हैं। डीजल के दाम रुपये 0.87/ लीटर बढ़े।’ इसके साथ ही कांग्रेस नेता ने दावा किया, ‘‘त्यौहारों पर बरक़रार, मोदी सरकार की लूटमार।’

केंद्र सरकार ने की थी पेट्रोल-डीजल पर 2.50 रुपये प्रति लीटर कटौती की घोषणा

गुरुवार को केंद्र की मोदी सरकार ने आम लोगों को थोड़ी राहत देते हुए पेट्रोल-डीजल पर 2.50 रुपये प्रति लीटर कटौती की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद बीजेपी शासित राज्यों ने भी ईंधन तेल पर वैट कम किए थे।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.