Home » अर्थ जगत » सामान्य » रिटेल के बाद थोक महंगाई में भी गिरावट

रिटेल के बाद थोक महंगाई में भी गिरावट

JUL 14 , 2017

शुक्रवार को जारी थोक व्यापार के आंकड़े अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर लेकर आए। इससे पहले जून महीने में खुदरा महंगाई दर में भी अनुमान से ज्यादा गिरावट दर्ज की गई और यह सालाना दर पर 1.54 प्रतिशत पर पहुंच गया। पांच साल में पहली बार खुदरा महंगाई की रफ्तार इतनी धीमी पड़ी है।

ईंधन की थोक महंगाई दर मई के 11.69 फीसदी से घटकर 5.28 फीसदी रही है। खाने-पीने की चीजों की थोक महंगाई दर में भी काफी गिरावट देखी जा सकती है। यह -1.25 फीसदी रही है जो मई में 0.15 फीसदी के स्तर पर थी। मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की थोक महंगाई दर मई के 2.55 फीसदी से घटकर 2.27 फीसदी पर आ गई है।

जून माह में आलू की कीमतों में 47.32 प्रतिशत की गिरावट आई। वहीं दाल की कीमतों में 25.47 फीसदी और प्‍याज की कीमतों में 9.47 फीसदी की गिरावट आई है।

Advertisement

खुदरा महंगाई और अब थोक महंगाई के मोर्चे पर मिल रही अच्छी खबर के बाद रिजर्व बैंक पर आगामी 2 अगस्त को होने वाली मौद्रिक नीति समीक्षा के दौरान ब्याज दरों में कटौती का दबाव होगा।

 


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.