Advertisement
Home अर्थ जगत बजट बजट 2023 - 2024 : आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के 3 केंद्र होंगे स्थापित, 5जी के विकास के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज में होंगी 100 लैब शुरु

बजट 2023 - 2024 : आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के 3 केंद्र होंगे स्थापित, 5जी के विकास के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज में होंगी 100 लैब शुरु

आउटलुक टीम - FEB 01 , 2023
बजट 2023 - 2024 : आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के 3 केंद्र होंगे स्थापित, 5जी के विकास के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज में होंगी 100 लैब शुरु
बजट 2023 - 2024 : आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के 3 केंद्र होंगे स्थापित, 5जी के विकास के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज में होगी 100 लैब शुरु
आउटलुक टीम

बुधवार को आर्थिक बजट पेश करते हुए भारत की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने भाषण में कहा कि भारत के उच्च शिक्षण संस्थानों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के 3 केंद्र स्थापित किए जाएंगे। इसके साथ ही इंजीनियरिंग कॉलेज में 5जी एप विकसित करने के लिए 100 लैब भी शुरु की जाएंगी। 

निर्मला सीतारमण ने बताया कि देश के बड़े औद्यौगिक घरानों के द्वारा कृषि, स्वास्थ्य, सतत विकास में तकनीकी अनुसंधान, विकास के क्षेत्र में सहयोग किया जाएगा। 

निर्मला सीतारमण ने कहा कि विभिन्न बैंक, बिजनेस ग्रुप की मदद से इंजीनियरिंग कॉलेज में 100 लैब शुरु की जाएंगी। रोजगार, बिजनेस मॉडल और अन्य अवसरों को बेहतर ढंग से आगे बढ़ाने के लिए इन लैब का इस्तेमाल किया जाएगा। इससे स्मार्ट क्लासरूम, तकनीकी खेती, यातायात व्यवस्था, स्वास्थ्य सेवाओं में विकास कार्य किया जाएगा। 

वित्त मंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी में शिक्षा के क्षेत्र में हुए नुकसान की भरपाई के लिए,एक राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी स्थापित की जाएगी, जहां बच्चे और बड़े विभिन्न भाषाओं, प्रांतों की पुस्तकें पढ़ सकेंगे। इसके साथ ही 38 हजार शिक्षक और सपोर्ट स्टाफ को अगले तीन साल में 740 एकलव्य आवासीय विद्यालय के लिए नियुक्त किया जाएगा।इससे 3.5 लाख छात्रों को फायदा होगा। निर्मला सीतारमण ने कहा कि शिक्षकों की ट्रेनिंग आधुनिक शिक्षा के पैमाने के अनुसार की जाएगी। 

 निर्मला सीतारमण ने कहा कि हीरा उत्पादन के लिए अगले पांच वर्षों तक किसी एक आईआईटी को रिसर्च के लिए अनुदान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि लैब में विकसित हीरे की तकनीक में रोजगार सृजन से अपार अवसर हैं। 

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से

Advertisement
Advertisement