Home Author

समता ही अभारतीय तो स्वतंत्रता भी संदिग्ध

हमारे गांव में मेरे बचपन में और अब भी एक सामान्य प्रचलन है। एक काम कोई एक समुदाय ही करता है और हर समुदाय...

समता ही अभारतीय तो स्वतंत्रता भी संदिग्ध

“अमीर अगड़ी जाति के लोग हैं, इसलिए गैर-बराबरी बनाए रखना उनकी फितरत”