Home कला-संस्कृति
कला-संस्कृति

विवादों के कारण नामवर की जीवनी प्रकाशकों ने वापस ली

हिंदी के युवा आलोचक अंकित नरवाल ने अपने प्रयासों से नामवर जी की जीवनी ‘अनल पाखी’ लिख डाली। वे पिछले...

शहरनामा: उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में बसी ‘रंगीली-गेवाड़ घाटी’ यानी अपना प्यारा चौखुटिया

“देव-भूमि उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में बसी ‘रंगीली-गेवाड़ घाटी’ यानी अपना प्यारा...

शहरनामा: कानपुर में कभी कोई अकेला नहीं महसूस करता

“कानपुर में कभी कोई अकेला नहीं महसूस नहीं करता” करामाती कान्हापुर उत्तर प्रदेश के कानपुर का कभी...

पुस्तक समीक्षाः किसी कपोल कल्पित फिल्म का संसार

पानी की दुनिया रॉइन रागा-रिझ्झम रागा प्रकाशक कलामोस प्रकाशन कीमतः 175 रुपये पृष्ठः 122 ‘‘अपने...

शहरनामा/ भोपाल: मोहब्बत की चाशनी में डूबा शहर

“भोपाल की बुनियाद में शामिल है दोस्ती और भाईचारे का जज्बा”   नवाबी ठाठ, ठसक और फकीराना सादगी का...

शहरनामा : गया नहीं, गयाजी कहिए!

“इकलौता शहर, जिसके नाम के साथ आदर से ‘जी’ लगाने का चलन है। गयासुर के नाम पर बसा यह नगर कभी बिहार हुआ...

स्मृति : सूना-सूना-सा संस्कृति का आंगन

“महामारी की दूसरी लहर और व्यवस्था की भारी नाकामी ने सांस्कृतिक क्षेत्र को ऐसी क्षति पहुंचाई, जिसकी...

शहरनामा/ इलाहाबाद: कपड़ाफाड़ होली की परंपरा से लेकर ‘भौकालियों का शहर, यहां माटी और हवा का ऐसा है असर

“इलाहाबाद की माटी और हवा का असर है कि यहां के बालक तक डरते नहीं, बल्कि अक्सर घुस के तमाशा देखने में...

शहरनामा/ गोंडा: अपनी साहित्यिक विरासत को संजोता शहर

“तीन ‘दुर्जनपुर’ वाला अकेला जनपद गोंडा” अपने शहर की छवि शहर की पहली स्मृति आंखों में ऐसी...

कोरोना ने छीना महान शास्त्रीय गायक, नहीं रहे पद्म भूषण पंडित राजन मिश्र, छोटे भाई साजन भी संक्रमित

बनारस घराने के महान शास्त्रीय गायक बंधु पंडित राजन- साजन मिश्र की जोड़ी में बड़े भाई पंडित राजन मिश्र...

शहरनामा/हाजीपुर: मामलभोग केले का शहर, मान्यता- सीता स्वयंवर के लिए जनकपुर जाते समय श्री राम के पड़े थे पांव

“कहा जाता है कि जब भगवान राम सीता स्वयंवर के लिए जनकपुर जा रहे थे तो उनके पांव हाजीपुर की धरती पर भी...

नदीम-श्रवण फेम संगीतकार श्रवण राठौड़ का निधन, कोरोना का चल रहा था इलाज

कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती नदीम-श्रवण फेम संगीतकार श्रवण राठौड़ का गुरुवार को...

पुस्तक समीक्षा: केंद्र में स्त्री, परिधि पर कई सवाल

“यह अनायास नहीं कि पिछली पीढ़ी नीना के विरुद्ध है और नई पीढ़ी नीना को बेहतर ढंग से समझती है, उसके साथ...

शहरनामा/कोतमा: नीम अंधेरा, ऊंघता स्टेशन

मध्य प्रदेश के विंध्य क्षेत्र में अनूपपूर जिले के कोतमा की याद मेरे मन में स्टेशन से शुरू होती है। घर...