Home » कला-संस्कृति » सामान्य » ऐप पर पढ़े सनी लियोनी की कहानियां

ऐप पर पढ़े सनी लियोनी की कहानियां

MAY 02 , 2017
लाखों दिलों की धड़कन सनी लियोनी यदि कहानियां लिखें तो कैसी होंगी। यह जानना वाकई दिलचस्प होगा। स्मार्ट फोन पर उनकी शोख अदाएं देखने वालों, उन्हें पढ़ने के लिए भी तैयार हो जाओ। जगरनॉट ऐप मनपसंद लेखकों को पाठकों के स्मार्ट फोन की पहुंच तक ले आया है।

डिजीटल दुनिया में किताबें भी बदल रही हैं। इस बदलाव में सबसे पहले किंडल ने दस्तक दी थी। लेकिन किताबें अंग्रेजी में थीं और यह सभी के लिए सुलभ भी नहीं था। जगरनॉट डिजिटल पब्लिशिंग हाउस ने हिंदी के साथ-साथ स्मार्ट फोन पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा दी है। जगरनॉट ऐप डाउनलोड कर पाठक लगभग 200 किताबें पढ़ सकते हैं। अंग्रेजी के साथ हिंदी में भी।

Advertisement

जगरनॉट पब्लिकेशन ऐप्लीकेशन के लिए विशेषतौर पर कंटेंट तैयार करा रहा है। इस ऐप को डाउनलोड कर अपने मनपसंद लेखकों को कहीं भी कभी पढ़ा जा सकता है। इसके साथ यदि कोई चाहे तो किताबें उपहार में भी दे सकता है। स्मार्ट फोन पर आसानी से डाउनलोड होने वाले ऐप को www.juggernaut.in से डाउनलोड किया जा सकता है। एप लॉन्च के पहले महीने में पूरे महीने बेहतरीन लेखकों की 200 से अधिक किताबें मुफ्त में पढ़ी जा सकती हैं। बाद में भी नामात्र के शुल्क पर ये किताबें उपलब्ध होंगी। एप सनी लियोनी की कहानियां, भारत की स्टार न्यूट्रीशनिस्ट रुजुता दिवेकर की किताब, प्रसिद्ध पाकिस्तानी धारावाहिक जिंदगी गुलजार टीवी शो की मशहूर लेखिका उमेरा अहमद का उपन्यास, विलियम डेलरिंपल और अनिता आनंद की लिखी किताब कोहिनूर के साथ-साथ अरुंधति रॉय, एपीजे अब्दुल कलाम, सुधा मूर्ति, काशीनाथ सिंह और नासिरा शर्मा की किताबें उपलब्ध हैं।  

जगरनॉट बुक्स की प्रकाशक चिकी सरकार कहती हैं, ‘मैं हिंदी के पाठकों के लिए जगरनॉट ऐप लांच करते हुए उत्साहित हूं। मेरा मानना है कि हिंदी पाठकों का बाजार अंग्रेजी से भी बड़ा है।’ वह मानती हैं कि हिंदी ऐप बाजार का रुख बदलने को तैयार है। लेखकों को भी उम्मीद जागी है कि उनकी पहुंच अधिक से अधिक लोगों तक होगी। जगरनॉट बुक्स की कार्यकारी संपादक हिंदी, रेणु आगाल कहती हैं, ‘हमें उम्मीद है कि ये लोगों के पढ़ने के तरीके को बदलेगा क्योंकि पहली बार हम ऐसा बुकशेल्फ तैयार कर रहे हैं जिसमें सबकी पसंद का कुछ न कुछ है। रोमांस से लेकर क्लासिक तक, साहित्य और उपन्यास से लेकर राजनीतिज्ञों की जीवनी तक। ये सब ऐसी कीमतों पर उपलब्ध होगा, जिनका जेब पर भी भार नहीं पड़ेगा। स्मार्टफोन पर मनपसंद किताबें मिल जाएं इससे अच्छा क्या हो सकता है।’


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.