Home कला-संस्कृति
कला-संस्कृति

बेचैन पत्तों का कोरस: कुंवर नारायण की कहानियों में एक दूसरा पक्ष ‘देखना’ भी है

कुंवर नारायण की कहानी ‘सीमारेखाएं’ पढ़ें और मंटो की कहानी ‘टोबा टेकसिंह’ याद न आए, ऐसा नहीं हो...

मिस्टर और मिसेज जिन्ना: प्रेमकथा से ज्यादा राजनैतिक इतिहास

जिन्ना पर न जाने कितनी किताबें आ चुकी हैं। उनकी बेहद खूबसूरत पत्नी, रती पैटी पर भी कई हैं। लेकिन उनके...

नेहरू के बारे में कहा-अनकहा

“किताब में लेखक ने नेहरू के अनगिनत भाषणों, पत्रों और आकाशवाणी पर उनके संदेशो में से सिर्फ वे ही पत्र...

अकाल में यह सूनापन !

डॉ. नामवर सिंह का निधन हमारी भाषा और समाज के लिए बड़ी क्षति तो है ही, यह बड़े संकट का संकेत भी हो सकता है।...

कोई दूसरा नामवर न हुआ

“उर्दू साहित्य में जैसे कोई दूसरा गालिब न हुआ, भाषा विज्ञान में कोई दूसरा नोम चोम्स्की न हुआ, बांग्ला...

भारत-पाकिस्तान की साझा विरासत थीं राणा लियाकत अली खान

एक किताब के जरिये यदि पता लगे कि भारत और पाकिस्तान में क्या आम है, तो यकीनन यह किताब ‘बेगम : अ पोर्ट्रेट...

नहीं रहे मशहूर साहित्यकार और आलोचक नामवर सिंह

प्रख्यात साहित्यकार और आलोचक डॉ. नामवर सिंह का मंगलवार रात 11.50 बजे 92 साल की उम्र में निधन हो गया। देर रात...

दिल्ली में एशियाई कवियों का समागम, रचनाओं से शांति और सहिष्णुता की जगाई मशाल

दक्षिण कोरिया, भारत, इजरायल, अफगानिस्तान और वियतनाम के पांच प्रतिष्ठित कवियों ने शुक्रवार को दिल्ली...

गांव और किसान की फिक्र

“यह किताब एक गंभीर अध्ययन है जो खेती-किसानी संबंधी ज्यादातर पुराने अध्ययनों को देखने-पढ़ने के बाद...

अपनी किताब में चिदंबरम ने कहा- भारत का विचार खतरे में, एक और महात्मा गांधी की पड़ेगी जरूरत

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिंदबरम ने अपनी नई किताब Undaunted: Saving The Idea of India में कहा है कि आज देश...

दारा सिंह पर बनी कॉमिक बुक

अभिनेता और दारा सिंह के बेटे बिंदू दारा सिंह ने, ‘एपिक जर्नी ऑफ द ग्रेट दारा सिंह’ नाम से एक कॉमिक...

ऑक्सफोर्ड ने 'नारी शक्ति' को चुना 2018 का हिंदी 'वर्ड ऑफ द ईयर'

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरीज ने ‘नारी शक्ति’ को साल 2018 का हिन्दी शब्द चुना। इसकी घोषणा जयपुर साहित्योत्सव...

मशहूर हिंदी साहित्यकार कृष्णा सोबती का 94 की उम्र में निधन

जिसे आज दुनिया बोल्ड कहती है, कृष्णा सोबती के लिए यह ‘बोल्डनेस’ बहुत आम थीं। दिलेर नायिकाओं की...

नई-पुरानी पीढ़ी के साहित्यकारों ने ऐसे याद किया कृष्णा सोबती को

94 साल की उम्र में आज कृष्णा सोबती का दिल्ली में निधन हो गया। यूं देखा जाए तो वह बस तन से अस्वस्थ थीं। मन...