Advertisement
Home कला-संस्कृति
कला-संस्कृति

पुस्तक समीक्षा: ‘‘सहसा कुछ नहीं होता’’

कवयित्री- रक्षा दुबे चौबे पृष्ठ संख्या - 172 प्रकाशक- बोधि प्रकाशन   समीक्षक - सुषमा...

पुस्तक समीक्षाः औरंगजेब नायक या खलनायक

बेशक, औरंगज़ेब सोलवहीं सदी में पैदा हुआ और सत्रहवीं सदी में मर गया। लेकिन सैकड़ों साल बाद भी हर दिन वह...

पुस्तक समीक्षाः इंजीकरी

'इंजीकरी' प्रतिभाशाली युवा कवयित्री अनामिका अनु का पहला कविता संग्रह है। इस संग्रह के प्रकाशित होने...

पुस्तक समीक्षा : लव ड्राइव

लव ड्राइव लेखक वंकुश अरोड़ा का उपन्यास है। इसे दिव्यांश पब्लिकेशन ने प्रकाशित किया है। एक लंबे और सफल...

पुस्तक समीक्षा : ग्यारहवीं ए के लड़के

"ग्यारहवीं ए के लड़के" फिल्म लेखक और कवि गौरव सोलंकी की किताब है। कहानियों की यह पुस्तक राजकमल प्रकाशन...

पुस्तक समीक्षा : परखनली

किताब "परखनली" कहानियों की किताब है। इसमें कुल दस कहानियां हैं। पहली छह कहानियां आज़म क़ादरी ने लिखी...

निमित्त नहीं का लोकार्पण

महाभारत की स्त्रियां हमेशा से ही जिज्ञासा का विषय रही हैं। हर स्त्री की अपनी कहानी और पृष्ठभूमि है।...

पुस्तक समीक्षा : बाली उमर

बाली उमर, हिंदी के युवा और चर्चित लेखक भगवंत अनमोल का उपन्यास है। इसकी कहानी गांव के कुछ बच्चों के इर्द...

पुस्तक समीक्षा : गहन है यह अन्धकारा

गहन है यह अन्धकारा लेखक अमित श्रीवास्तव का उपन्यास है। इससे अलावा इनका एक काव्य संग्रह, एक उपन्यास और...

पुस्तक समीक्षा : मैं बीड़ी पीकर झूंठ नी बोलता

सच्चा साहित्य, सिनेमा, कला वही है जो पढ़े, देखे जाने के बाद भी याद रहे, साथ रहे। कुछ ऐसी ही तासीर है इस...

लोकतंत्र का ही संकट नहीं बल्कि सभ्यता का संकट आ गया है: अशोक वाजपेयी

देश के जाने माने बुद्धिजीवियों ने देश मे" लोकतंत्र" को बचाने के लिए एक बार फिर भारत छोड़ो आंदोलन की...

पुस्तक समीक्षा : बहेलिए

बहेलिए कहानियों की किताब है। इसे लेखिका अंकिता जैन ने लिखा है। किताब में महिलाओं के इर्द गिर्द बुनी गई...

पुस्तक समीक्षा : बहुत दूर कितना दूर होता है

"बहुत दूर कितना दूर होता है" अभिनेता और लेखक मानव कौल की किताब है। किताब हिन्द युग्म प्रकाशन से छपी...

पुस्तक समीक्षा : अधूरी लड़की

अगर आपको हिंदी साहित्य और कहानियों में जरा सी भी दिलचस्पी है तो पुस्तक "अधूरी लड़की" जरूर पढ़नी चाहिए।...


Advertisement
Advertisement