Advertisement
Home सिनेमा Urmimala Boruah: कुछ यूं है फिटनेस कोच से मिसेज गैलेक्सी पेजेंट में खिताब जीतने का सफर

Urmimala Boruah: कुछ यूं है फिटनेस कोच से मिसेज गैलेक्सी पेजेंट में खिताब जीतने का सफर

आउटलुक टीम - MAY 19 , 2022
Urmimala Boruah: कुछ यूं है फिटनेस कोच से मिसेज गैलेक्सी पेजेंट में खिताब जीतने का सफर
उर्मीमाला बोरूआ
आउटलुक टीम

फिटनेस इंस्ट्रक्टर और पूर्व मिसेज इंडिया गैलेक्सी 2019 उर्मीमाला बोरुआ (Urmimala Boruah), जो आज लाखों महिलाओं को सशक्त बनाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं। उनका कहना है कि उन्होंने जिस तरह हिम्मत कर अपने सपनों को साकार किया। ठीक उसी तरह, आज हर महिला को समाज में अपना वजूद बनाने के लिए अपने सपनों को जरूर पूरा करना चाहिए।

असम के डिब्रूगढ़ की रहने वाली उर्मीमाला (Urmimala Boruah) कई प्रतियोगिताओं की विजेता रह चुकी हैं। मगर, उनका यह सफर इतना आसान नहीं था। जी हां, बचपन से ही कुछ कर गुजरने का सपना लिए उर्मीमाला तब टूट गई, जब उनकी शादी 18 साल की उम्र में ही कर दी गई। साथ ही, वह 19 साल की उम्र में मां बन गई। लेकिन, एक कहावत तो हम सब ने सुनी है, "जहाँ चाह वहाँ राह"। कुछ इसी तरह उन्होंने बिना हार माने गर्भावस्था के बाद 40 किलो वजन कम कर फिटनेस कोच बनने का फैसला किया।

इसके बाद उर्मीमाला (Urmimala Boruah) ने 10 दोस्तों के साथ मिलकर एरोबिक्स ट्रेनर के रूप में अपनी यात्रा शुरू की। इतना ही नहीं, पहले से ही सौंदर्य प्रतियोगिता की ओर रुचि होने कारण उन्होंने शादी के बाद इसमें भाग लेने का फैसला भी किया।

उर्मीमाला ने प्रतियोगिता की तैयारी के लिए खुद को शारीरिक और मानसिक तौर पर मजबूत बनाया, और अनुशासित होकर मिसेज इंडिया इंक 2019 में उपविजेता घोषित हुई। ठीक उसके बाद ही, उन्होंने भारत और एशिया का प्रतिनिधित्व करने वाली मिसेज इंडिया गैलेक्सी का खिताब जीता।

बता दें कि, वह दुनिया भर में 10,000 से अधिक महिलाओं को प्रशिक्षित करने के विशाल अनुभव के साथ 18 वर्षों से फिटनेस में हैं। वहीं, वह लाखों महिलाओं के लिए किसी प्रेरणा से कम नहीं हैं।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से

Advertisement
Advertisement