Home सिनेमा गिप्पी ग्रेवाल की वेब सीरीज ‘वार्निंग’ पर प्रतिबंध की मांग, ये हैं आपत्तियां

गिप्पी ग्रेवाल की वेब सीरीज ‘वार्निंग’ पर प्रतिबंध की मांग, ये हैं आपत्तियां

आउटलुक टीम - AUG 18 , 2019
गिप्पी ग्रेवाल की वेब सीरीज ‘वार्निंग’ पर प्रतिबंध की मांग, ये हैं आपत्तियां
गिप्पी ग्रेवाल की वेब सीरीज ‘वार्निंग’ पर प्रतिबंध की मांग, ये हैं आपत्तियां
आउटलुक टीम

प्रसिद्ध पंजाबी गायक तथा फिल्म डायरेक्टर गिप्पी ग्रेवाल की नई आ रही वेब सीरीज ‘वार्निंग’ विवादों में घिर गई है। इस वेब सीरीज के खिलाफ पंडितराओ धरेनवर ने मोहाली पुलिस तथा साइबर क्राइम पुलिस को शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने कहा है कि यह कार्यक्रम नशाखोरी और अपराध को बढ़ावा देता है।

मोहाली पुलिस को भेजी शिकायत

शिकायतकर्ता निवासी चंडीगढ़ पंडितराओ ने कहा उन्होंने पंजाब के पुलिस महानिदेशक को गिप्पी ग्रेवाल के खिलाफ लिखित शिकायत भेजी थी। उसके बाद उन्हें डीजीपी आफिस से ईमेल पर जवाब आया कि यह शिकायत साइबर क्राइम पुलिस मोहाली में दी जाए। इसके बाद उन्होंने मोहाली के एसएसपी तथा साइबर क्राइम पुलिस को शिकायत भेज दी है। उन्होंने बताया कि गिप्पी ग्रेवाल जो नई वेब सीरीज ‘वार्निंग’ ला रहे हैं उसके शीर्षक में ही लिखा है ‘वेहले आं बंदा बुंदा ई मरवा लो’।

नशा और अपराध को बढ़ावा
इस वेब सीरीज के पोस्टर में दिखाया गया है कि एक कार के आगे किसी व्यक्ति को बिठाया गया है। उसके आगे एक बोतल पड़ी है। उस व्यक्ति को देखकर जहां शराब पीकर कोई व्यक्ति कह रहा कि ‘कोई बंदा मरवा लो।’ पंडितराओ ने कहा कि ग्रेवाल की उक्त वेब सीरीज जहां शराब के नशे को बढ़ावा देने वाली है। यह सीरीज पंजाब और पड़ोसी राज्यों के पंजाबी युवकों को भी कत्ल आदि अपराधों के लिए उकसाने वाली है। 

मुख्यमंत्री के अभियान का उल्लंघन
उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्द्र सिंह की ओर से पंजाब में क्राइम, नशा तथा हथियारों को प्रमोट करने वाले गीत गाने वाले गायकों व अन्य कलाकारों के खिलाफ सख्ती बरतने के निर्देश हैं। जबकि गिप्पी ग्रेवाल की वेब सीरीज इन्हीं बुराइयों को बढ़ावा देती है और मुख्यमंत्री के निर्देशों का घोर उल्लंघन करती है। उन्होंने शिकायत की एक प्रति मुख्यमंत्री को भी भेजी है। इसमें भी ग्रेवाल के खिलाफ पुलिस केस दर्ज करवाने तथा उसकी वेब सीरीज पर तुरंत पाबंदी लगाने की मांग की गई है।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से