Home Author

बजट में नई परंपरा, नए सपने बस आंकड़े नदारद

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पांच जुलाई को वित्त वर्ष 2019-20 के लिए नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली...

मंत्रीमंडल के गठन पर जानें मोदी ने किन समीकरणों का रखा ध्यान, पढ़ें खास रिपोर्ट

“दूसरी मोदी सरकार में कई नए चेहरे आए तो कई पुराने विदा हुए लेकिन जाति और क्षेत्रीय समीकरणों में भाजपा...

राजस्थान से ग्राउंड रिपोर्ट: मोदी फैक्टर और जातिगत गणित के बीच मुकाबला

जयपुर ग्रामीण लोकसभा चुनाव क्षेत्र में आने वाला मोलाहेड़ा गांव गुर्जर बहुल है। यहां के संजय कुमार कुछ...

बाजारवादी नीतियों पर चुप्पी का राज

“आर्थिक उदारीकरण और सुधारों की वकालत है गुम, बीच बहस में अब आया आम आदमी”

पश्चिमी उत्तर प्रदेश से ग्राउंड रिपोर्ट: बदलती फिजा का संदेश

“बागपत, कैराना, सहारनपुर, देवबंद, मुजफ्फरनगर, मेरठ से उभरते संकेतों का दूर तक हो सकता है असर, भाजपा के...

किसानों के लिए अपनी सरकार से भी लड़ा

लोकसभा के पहले चरण में जिन जगहों पर चुनाव होना है, उनमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश भी एक है। यहां की...

पश्चिमी उत्तर प्रदेश से ग्राउंड रिपोर्ट: बदलती फिजा का संदेश

“बागपत, कैराना, सहारनपुर, देवबंद, मुजफ्फरनगर, मेरठ से उभरते संकेतों का दूर तक हो सकता है असर, भाजपा के...

चुनाव में सब जायज!

कहावत है, प्यार और जंग में सब जायज है। लेकिन ऐसा लगता है कि हमारी राजनैतिक पार्टियां ‘चुनाव जीतने के...

किसान कर्जमाफी फर्ज या फायदा

“आम चुनाव के मद्देनजर किसान आया केंद्र में तो दलीलें भी तरह-तरह की उभरीं, क्या हैं राजनैतिक समीकरण और...

जनहित या राजनैतिक हित

अगला लोकसभा चुनाव ज्यों-ज्यों नजदीक आ रहा है, राजनैतिक दलों की चुनाव जीतने की रणनीति भी बदलती जा रही...

नेता तो नतीजे के बाद ही चुनेगा हाइकमान | अशोक गहलोत

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत वैसे तो पार्टी के महासचिव (संगठन)...

आज की कसौटियां

किसी भी जीवंत देश के लिए मजबूत और स्वतंत्र मीडिया का होना अहम जरूरत है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा...

स्वायत्त संस्थाएं और लोकतंत्र

किसी भी लोकतांत्रिक व्यवस्था में न्यायपालिका और स्वायत्त संस्थाओं को मजबूत स्तंभ की तरह देखा जाता...

कसौटी पर शुचिता

आखिरकार केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर का इस्तीफा हो ही गया। अकबर पर संपादक रहते हुए उनके मातहत...

खाकी-स्वच्छता की भी दरकार

हाल की कुछ घटनाओं से देश के पुलिसिया तंत्र को लेकर नए सवाल खड़े हो गए हैं। अगर समय रहते इन सवालों के जवाब...

दलित नौजवानों का बदल रहा तेवर

पुराने नारे और नया नजरिया दोनों ही उत्तर भारत के सामाजिक-राजनीतिक परिदृश्य के बुनियादी ताने-बाने को...