Home » Author

दलित नौजवानों का बदल रहा तेवर

पुराने नारे और नया नजरिया दोनों ही उत्तर भारत के सामाजिक-राजनीतिक परिदृश्य के बुनियादी ताने-बाने को...

बहुत देर कर दी हुजूर!

केंद्र सरकार ने हाल में एक अच्छा फैसला किया लेकिन असल में यह अब से चार साल पहले लिया गया होता तो ज्यादा...

तेल में फिसलती सरकार

इन दिनों देश में कई महत्वपूर्ण मसलों पर बहस चल रही है। उम्मीद है, यह हमारे लोकतंत्र और नागरिक...

आपदा में तो एकजुटता दिखे

केरल में सौ साल बाद रिकॉर्डतोड़ बारिश भारी तबाही और संकट ले आई है, उससे निपटने में राज्य सरकार, सेना,...

हिसाब देने की घड़ी

"प्रधानमंत्री को इस बार लाल किले की प्राचीर से अपनी तमाम उपलब्धियों, नीतियों, कार्यक्रमों और न्यू...

दशक गंवाने का खतरा

यही सब चलता रहा तो यकीनन हम एक पूरा दशक गंवा बैठेंगे। आर्थिक दुर्दशा बढ़ रही है। मॉब लिंचिंग कानून का...

इस नफरत से तो तौबा!

“ सरकार में बैठे व्यक्ति ऐसे कदम उठाते हैं तो यह लोकतांत्रिक देश की कानून-व्यवस्था के लिए चिंता का...

“कश्मीर का समाधान होकर रहेगा”

भाजपा के पीडीपी से नाता तोड़ने और महबूबा मुफ्ती सरकार को अलविदा कहने के बाद कश्मीर में केंद्रीय गृह...

इसकी टोपी उसके सिर

केंद्र सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रह्मण्यन की विदाई हो गई है और अगले कुछ दिनों में वे...

क्या स्वदेशी लॉबी के शिकार हुए मोदी सरकार के आर्थिक सलाहकार

चीफ इकोनामिक एडवाइजर अरविंद सुब्रमण्यन का इस्तीफा एक सिलसिले का हिस्सा है। असल में देश की आर्थिक...

राजनाथ सिंह ने उपराज्यपाल से दिल्ली विवाद हल करने के लिए कहा

दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी और दिल्ली के उपराज्यपाल के बीच चल रहे विवाद का जल्द हल होने की...

गठबंधनों की नई बेला

आजकल समझौतों का दौर चल रहा है तभी तो अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तरी कोरिया के चेयरमैन किम...

गन्ना किसानों के पैकेज में चीनी कम, पैकेजिंग ज्यादा

कैराना के लोकसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की हार ने एक बड़ा काम किया है। देश के गन्ना...

भरोसे पर खरी उतरें संस्थाएं

किसी भी लोकतंत्र के लिए सबसे अहम है उसकी संवैधानिक संस्थाओं में नागरिकों का भरोसा कायम रहे। यह भरोसा...

कैराना की प्रयोगशाला में गठबंधन का फार्मूला, ऐसे खाई भाजपा ने मात

करीब पांच साल पहले दंगों की प्रयोगशाला बने शामली, कैराना और मुजफ्फरगर का नया चेहरा सामने आया है। साल 2014...

जो जीता वही सिकंदर, "आपरेशन कमल" इस बार फेल

आखिरकार जोड़-तोड़ की राजनीति हारी और लोकतांत्रिक मूल्यों की जीत हुई। एक बार फिर साबित हो गया कि देश में...


Copyright © 2016 by Outlook Hindi.