Home एग्रीकल्चर मौसम महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में मौसम विभाग ने अलर्ट किया जारी, भारी बारिश का अनुमान
महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में मौसम विभाग ने अलर्ट किया जारी, भारी बारिश का अनुमान
महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में मौसम विभाग ने अलर्ट किया जारी, भारी बारिश का अनुमान

महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में मौसम विभाग ने अलर्ट किया जारी, भारी बारिश का अनुमान

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार अगले 24 घंटों में महाराष्ट्र के साथ ही मध्य के कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। महाराष्ट्र के ठाणे और पालघर समेत कुछ इलाकों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। साथ ही मध्य प्रदेश के 20 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। दिल्‍ली-एनसीआर के इलाकों में अगले 24 घंटों में कहीं हल्की तो कहीं तेज बारिश होने का अनुमान है।

मौसम विभाग के अनुसार महाराष्ट्र, ओडिशा और उत्तर गुजरात के कुछ हिस्सों में कहीं तेज तो कहीं भारी बारिश का अनुमान है। गुजरात में मछुआरों को एक अगस्त तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है। राज्य आपदा अभियान केंद्र के मुताबिक, रविवार को वलसाड के कपराडा, भरूच के नेतरंग और गुरुदेश्वर में 54, 48 और 34 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।

मध्य प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात

वहीं मध्य प्रदेश के उज्जैन, भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, जबलपुर संभाग सहित कई स्थानों पर तेज बारिश का दौर जारी है। राज्य के कई जिलों में भारी बारिश से बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है। मौसम विभाग ने राज्य के 20 जिलो में अगले 24 घंटों में भी भारी बारिश की भविष्यवाणी की है। इस दौरान कटनी, मंडला, जबलपुर, अनूपपुर, विदिशा, सागर, दमोह, छिंदवाड़ा, बालाघाट, सिवनी, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, गुना, शाजापुर, रायसेन, सीहोर, राजगढ़ और अलीराजपुर में तेज बारिश हो सकती है।

शाजापुर जिले के खोकराकला गांव के लोग पानी से घिर गए, जिन्हें राहत और बचाव दल ने सुरक्षित बाहर निकाला। शाजापुर में बीते 24 घंटों के दौरान हुई भारी बारिश से कई हिस्सों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। बीते दो दिनों में नदियों का जलस्तर बढ़ा है, वहीं कई स्थानों पर जन-जीवन भी प्रभावित हुआ। बैतूल में सूखी नदी का जलस्तर बढ़ा है, वहीं श्योपुर जिले में बाढ़ जैसे हालात बन रहे हैं। यहां आवदा जलाशय का जलस्तर काफी बढ़ गया है।

बिहार में बाढ़ से 85 लाख लोग प्रभावित

उत्तर बिहार में बाढ़ ने एक बार फि‍र कोहराम मचाना शुरू कर दिया है। बाढ़ से पूरे राज्य में करीब 85 लाख लोग प्रभावित हैं। बाढ़ प्रभावित जिलों में शिवहर, दरभंगा, सहरसा, सुपौल, किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, कटिहार और पश्चिम चंपारण शामिल हैं। बाढ़ से खरीफ की फसलों को भी नुकसान की आशंका है। पूर्व बिहार में खगड़िया में बागमती लाल निशान से ऊपर बह रही है। खगड़िया के चेरीखेरा पंचायत में फिर से बाढ़ का पानी घुस गया है। समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड के हायाघाट-थलवारा स्टेशनों के बीच बाढ़ का पानी खतरे के निशान से ऊपर जाने से ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया है।

राजस्थान के कोटा और बूंदी में भारी बारिश

राजस्थान में भी भारी बारिश से कोटा और बूंदी में बाढ़ के हालात बन गए हैं। कई इलाकों में 7 से 8 फीट तक पानी भर गया है। जम्मू-कश्मीर में रविवार को भी मूसलाधार बारिश से कई जगहों पर भूस्खलन हुआ।