Home एग्रीकल्चर मौसम गुजरात, ओडिशा, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश और केरल में बारिश के आसार-स्काईमेट
गुजरात, ओडिशा, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश और केरल में बारिश के आसार-स्काईमेट
गुजरात, ओडिशा, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश और केरल में बारिश के आसार-स्काईमेट

गुजरात, ओडिशा, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश और केरल में बारिश के आसार-स्काईमेट

चक्रवात वायु और अन्य क्षेत्रों में बन रहे चक्रवातों की वजह से कई राज्यों में तेज हवा और गरज-चमक के साथ बारिश होने के आसार बन रहे हैं। इसकी वजह से जहां कुछ राज्यों में भारी बारिश होगी तो ज्यादातर जगहों पर हल्की बारिश या सुहाने मौसम से ही संतोष करना पड़ सकता है। हालांकि उत्तर-भारत के कुछ इलाकों में गर्म मौसम का सितम जारी रहने का अनुमान है। देश के ज्यादातर राज्यों में इस सप्ताह शुरूआत में लोगों को राहत मिलेगी, इसके बाद दो-तीन दिन में फिर से गर्मी बढ़ने के आसार हैं।

निजी एजेंसी स्काईमेट वेदर के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान पूर्वोत्तर भारत, कोंकण, गोवा और कर्नाटक के तटीय इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश होने की उम्मीद है। कुछ जगहों पर भारी बारिश भी रिकॉर्ड की जा सकती है। गुजरात, ओडिशा, पूर्वी राजस्थान, पश्चिमी मध्य प्रदेश और केरल के कुछ हिस्सों में भी हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं। छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के कुछ इलाकों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश होने की आशंका जताई गई है। तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में भी अगले 24 घंटे में हल्की बारिश होने का अनुमान है। इसके अलावा पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कुछ जगहों पर धूल भरी आंधी के साथ बारिश हो सकती है।

पश्चिमी मध्य बंगाल की खाड़ी के भागों पर एक चक्रवाती क्षेत्र बना हुआ है। इससे उत्तरी आंध्र प्रदेश के कई इलाकों में थोड़ी देर में गरज-चमक और तेज हवाओं के साथ बारिश होने का अनुमान है। इस दौरान कुछ जगहों पर मध्यम तो कुछ जगहों पर भारी बारिश होगी। आंध्र प्रदेश के अलावा तेलंगाना और तमिलनाडु में भी बारिश देखी जा सकती है। केरल के पश्चिमी तटीय हिस्सों सहित कर्नाटक, गौवा और महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में मध्यम से भारी बारिश होने का अनुमान है।

चक्रवात वायु अभी उत्तर-पूर्वी अरब सागर पर बना हुआ है

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार चक्रवात की वजह से आज छत्तीसगढ़ और पूर्वी मध्य प्रदेश में भी मध्यम से भारी बारिश की संभावना है। उत्तरी मध्य प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में धूल भरी आंधी भी आ सकती है। इससे तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी। स्काईमेट के अनुसार चक्रवात वायु अभी उत्तर-पूर्वी अरब सागर पर बना हुआ है। यहां से ‘वायु’ उत्तर-पूर्वी दिशा की तरफ बढ़ रहा है। सोमवार रात तक इसके कच्छ का तटीय इलाका पार करने की उम्मीद है। कच्छ के तटीय इलाकों को पार करने के दौरान ये चक्रवात मार्ग में पड़ने वाले गुजरात के विभिन्न हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश करेगा।

उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में भी बारिश होने का अनुमान

चक्रवात वायु के अलावा जम्मू-कश्मीर पर बने पश्चिमी विक्षोभ और इस सिस्टम से मध्य पाकिस्तान पर बने चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र की वजह से उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में भी बारिश होने का अनुमान है। इस सिस्टम की वजह से पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी धूल भरी आंधी के साथ बारिश होने का अनुमान है। स्काईमेट के अनुसार पूर्वी बिहार में भी एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। इसकी वजह से पूर्वोत्तर भारत में भी तेज हवा और गरज के साथ बारिश का अनुमान है। ओडिशा में भी भारी बारिश की संभावना बनी हुई है।

कर्नाटक, केरल, गोवा, गुजरात और असम के तटीय इलाकों में हुई बारिश

बीते 24 घंटे के दौरान उत्तरी अंडमान द्वीप समूह में भारी बारिश हुई है। इसके अलावा कर्नाटक, केरल, गोवा, गुजरात और असम के तटीय इलाकों में भी हल्की से मध्यम बारिश हुई है। छत्तीसगढ़, तमिलनाडु और मध्य महाराष्ट्र सहित पूर्वी भारत के कई हिस्सो में पिछले 24 घंटे के दौरान मध्यम बारिश दर्ज की गई है। इस दौरान राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में धूल भरी आंधी और हल्की बारिश भी हुई।

बारिश और आंधी के बावजूद गर्मी से ज्यादा राहत के आसार नहीं

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार बारिश और आंधी के बावजूद देश के ज्यादातर हिस्सों में लोगों को गर्मी से बहुत ज्यादा राहत मिलने के आसार नहीं हैं। अगले दो-तीन दिनों में पूर्वी भारत के कई इलाकों का अधिकतम तापमान सामान्य से दो-तीन डिग्री ज्यादा ही रहेगा। अधिकतम तापमान में भी कोई बड़ा बदलाव होने के आसार नहीं है। 22 से 24 जून के बीच पश्चिमी तय, पूर्व, मध्य और पूर्वोत्तर भारत में भारी बारिश के आसार हैं। इस दौरान अंडमान व निकोबार द्वीप समूह और उत्तर-पश्चिमी भारतीय क्षेत्र में भी बारिश के आसार हैं। बारिश से संबंधित इलाकों में कुछ देर के लिए तापमान गिर सकता है, लेकिन ये मौसम में ये बदलाव स्थाई नहीं होगी। हालांकि, राजस्थान और विदर्भ समेत उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ इलाकों में इस सप्ताह भी लोगों को लू से राहत नहीं मिलेगी।