Home एग्रीकल्चर मौसम मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से खरीफ फसलों को नुकसान की आशंका
मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से खरीफ फसलों को नुकसान की आशंका
मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से खरीफ फसलों को नुकसान की आशंका

मध्य प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से खरीफ फसलों को नुकसान की आशंका

मध्य प्रदेश में सितंबर महीने में हो रही लगातार बारिश से खरीफ फसलों को नुकसान की आशंका है। राज्य में जुलाई के कई जिलों में अभी तक सामान्य से ज्यादा बारिश हुई है जिससे कई जिलों में बाढ़ जैसे स्थिति बनी हुई है।

राज्य के कृषि मंत्री सचिन यादव ने टवीट कर कहा कि अतिवृष्टि से खराब हुई फसलों का सर्वे का कार्य लगातार कलेक्टरों की निगरानी में राजस्व एवं कृषि विभाग की टीमों द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं सरकार की तरफ से प्रदेश के अन्नदाताओं को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि यह सरकार किसानों की सरकार है, कमलनाथ सरकार की प्रथम प्राथमिकता में किसान है, संकट की इस घड़ी में कांग्रेस सरकार अन्नदाताओं के साथ में साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि राज्य में भारी बारिश से बर्बाद हुई फसलों का होगा सर्वे और किसानों को मिलेगा मुआवजा।

सरकार प्रभावित परिवारों के साथ मुस्तैदी से खड़ी है

राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने टवीट कर कहा कि प्रदेश में विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश अनवरत जारी है, अगले कुछ घंटों में भी भारी बारिश की संभावना है, भारी बारिश के कारण नदी-नाले उफान पर है, भारी बारिश को देखते हुए पूरे प्रदेश में प्रशासन को पूर्व से ही निर्देश दिए गए हैं कि आपदा प्रबंधन के तहत जितने भी जलभराव वाले क्षेत्र हैं। निचली बस्तियां व डूब प्रभावित क्षेत्र हैं, वहां पर विशेष चौकसी व सावधानी बरती जाये। किसी भी प्रकार की जनहानि को रोकने के लिए पर्याप्त इंतजाम किए जाएं। सरकार प्रभावित परिवारों के साथ मुस्तैदी से खड़ी है, उनकी पूरी मदद की जायेगी।

भोपाल समेत राज्य के 17 जिलों में भारी बारिश का एलर्ट

जुलाई के आखिरी सप्ताह से मध्यप्रदेश में सक्रिय हुआ मानसून इस हफ्ते भी जारी रहने का अनुमान है। मौसम विभाग ने भोपाल समेत राज्य के 17 जिलों में भारी बारिश का एलर्ट जारी किया है। राज्य के आधे से भी ज्यादा हिस्से को अभी अगले 4-5 दिन तक भारी और अति भारी बारिश से कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। मौसम विभाग के अनुसार पूर्वी मध्यप्रदेश में तो बारिश का प्रभाव अपेक्षाकृत कम है, लेकिन पश्चिमी मध्यप्रदेश में वर्षा की तीव्रता, वेग और प्रभाव ज्यादा है। मौसम विभाग ने राज्य के इंदौर, धार, खंडवा, खरगोन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, बुरहानपुर, उज्जैन, रतलाम, शाजापुर, देवास, नीमच, मंदसौर, होशंगाबाद, बैतूल और हरदा जिलो में बारिश का अनुमान जताया है। वहीं, भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, गुना, अशोकनगर, अनूपपुर, डिंडोरी, उमरिया, शहडोल, रीवा, सागर, सिवनी, नरसिंहपुर जबलपुर, मंडला, कटनी, छिंदवाड़ा और बालाघाट जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी दी है।