Home एग्रीकल्चर टेक्नोलॉजी पंजाब सरकार पराली जलाने से रोकने के लिए 28,000 कृषि मशीनें मुहैया कराएगी
पंजाब सरकार पराली जलाने से रोकने के लिए 28,000 कृषि मशीनें मुहैया कराएगी
पंजाब सरकार पराली जलाने से रोकने के लिए 28,000 कृषि मशीनें मुहैया कराएगी

पंजाब सरकार पराली जलाने से रोकने के लिए 28,000 कृषि मशीनें मुहैया कराएगी

पराली जलाने पर रोक लगाने के लिए पंजाब सरकार ने किसानों को अनुदान पर कृषि मशीनें देने का फैसला किया है। पंजाब का कृषि विभाग मौजूदा वित्त वर्ष के दौरान 278 करोड़ रुपये की सब्सिडी के साथ राज्य के किसानों को 28,000 से ज्यादा कृषि मशीनों या खेती के उपकरण मुहैया कराएगा।

राज्य के एक अधिकारी ने बताया कि पराली के प्रबंधन के लिए योजना के तहत किसानों को 50 से 80 फीसदी तक की रियायत दी जा रही है। सहकारी संगठनों को 80 फीसदी तक की सब्सिडी दी जाएगी, जबकि अकेले लेने वाले किसानों को 50 फीसदी की रियायत दी जाएगी। कृषि सचिव के एस पन्नू ने कहा कि सरकार पराली के प्रबंधन के लिए किसानों को अत्याधुनिक मशीनें प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। उन्होंने सूचित किया कि विभाग को रियायती मशीनों के लिए अब तक किसानों, किसान समूहों और प्राथमिक कृषि सहकारी सोसाइटी से करीब 12,000 आवेदन मिले हैं।

किसानों को 15 सितंबर से पहले मशीनें देने की योजना

उन्होंने बताया कि पहले चरण के तहत लगभग 15,000 मशीनों को व्यक्तिगत किसानों के लिए 50 फीसदी के अनुदान पर मशीनें दिए जायेंगी, जबकि अन्य 13,000 कृषि मशीनों को लगभग 2,200 किसान समूहों/पीएसीएस को 80 फीसदी की सब्सिडी पर मशीनें दी जायेंगी। कृषि सचिव ने कहा कि किसानों को मशीनें नई फसल की आवक से पहले 15 सितंबर तक इन मशीनों की सप्लाई करने के लिए राज्य सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है।

पराली जलाने से पर्यावरण प्रदूषण होता है

उन्होंने बताया कि पराली जलाने से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में किसानों को जानकारी देने के लिए सूचना शिक्षा संचार (आईईसी) जैसी गतिविधियां राज्य में पहले ही शुरू कर दी गई है। परानी जलाने से न केवल पर्यावरण प्रदूषण होता है, बल्कि इससे मिट्टी की सतह को भी नुकसान पहुंचता है। राज्य में हर साल किसानों द्वारा खेतों पर पराली जलाई जाती है, जबकि राज्य सरकार इसको रोकने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।