Home एग्रीकल्चर रुरल इकोनॉमी येदियुरप्पा ने प्रधानमंत्री से मिलकर जल्द बाढ़ राहत राशि जारी करने की मांग की
येदियुरप्पा ने प्रधानमंत्री से मिलकर जल्द बाढ़ राहत राशि जारी करने की मांग की
येदियुरप्पा ने प्रधानमंत्री से मिलकर जल्द बाढ़ राहत राशि जारी करने की मांग की

येदियुरप्पा ने प्रधानमंत्री से मिलकर जल्द बाढ़ राहत राशि जारी करने की मांग की

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर राज्य के बाढ़ पीड़ितों के लिए और जल्द बाढ़ राहत राशि जारी करने की मांग की। मुख्यमंत्री के साथ राज्य के मुख्य सचिव टीएम विजयभास्कर और केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी तथा प्रहलाद जोशी भी उपस्थित थे।

राज्य सरकार ने अनुसार राज्य के 22 जिलों के 103 तालुका में बाढ़ से 5.35 लाख हेक्टेयर में खरीफ फसलों के साथ ही बागवानी फसलों को नुकसान हुआ है। बैठक के येदियुरप्पा ने दिल्ली में पत्रकारों से कहा कि प्रधानमंत्री ने बाढ़ से हुए नुकसान का आकलन के लिए ही जल्द ही केंद्रीय अध्ययन दल भेजने का आश्वासन दिया है। उन्होंने बताया कि राज्य एक बड़ी आपदा की चपेट में है तथा पिछले 108 वर्षों में यह पहली बार हुआ है। उन्होंने कहा कि पंद्रह दिन पहले राज्य में सूखे की स्थिति थी, लेकिन अब जलाश्यों में पानी तय मात्रा से ज्यादा भर गया है। इन सब बातों से प्रधानमंत्री को अवगत कराया गया है।

राज्य ने पहले 3,000 करोड़ की मांगी थी सहायता

उन्होंने कहां कि प्रधानमंत्री ने हमारी सभी बातों को समझा है, तथा जल्द ही अवलोकन के लिए बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में टीम भेजने का आश्वासन दिया है। उन्होंने बताया कि हमने प्रधानमंत्री से सूखा राहत की राशि जल्द जारी करने की मांग की है। हाल ही में राज्य सरकार ने केंद्र को 3,000 करोड़ रुपये की राहत राशि जारी करने की मांग की थी, ताकि राहत और पुनर्वास के के काम में तेजी लाई जाए।

विपक्ष ने केंद्र सरकार तत्काल 5,000 रुपये जारी करने की मांग की

विपक्षी दल कांग्रेस और जेडी (एस) ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेतृत्व वाली केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण राज्य के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर चुके हैं इसके बावजूद राहत राशि जारी करने करने में केंद्र सरकार देरी कर रही है। इन दलों ने केंद्र से मांग की है कि राज्य के लिए तत्काल 5,000 करोड़ रुपये अंतरिम राहत जानकारी करने की मांग की।

राज्य में कुल 40 हजार करोड़ के नुकसान का अनुमान

मुख्यमंत्री ने बताया कि बाढ़ से राज्य में करीब 40,000 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है। इसमें मकान, पुल और सड़कों के साथ ही फसलों को नुकसान हुआ है, जिनके बारे में प्रधानमंत्री को जानकारी दे दी गई है। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार प्रधानमंत्री के साथ ही हुई 45 मिनट की बैठक में राज्य में बाढ़ से प्रभावित जिलों में हुए नुकसान के साथ राहत उपायों के बारे में पूरी जानकारी दी गई। राज्य में बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 62 हो गई है जबकि 14 लोग अभी भी लापता हैं। राज्य में 943 राहत शिविर चल रहे हैं।

एजेंसी इनपुट