Home एग्रीकल्चर रुरल इकोनॉमी बाढ़ प्रभावित 11 राज्यों के नुकसान आंकने के ‌लिए गठित अंतर-मंत्रालय केंद्रीय टीम का दौरा शुरू
बाढ़ प्रभावित 11 राज्यों के नुकसान आंकने के ‌लिए गठित अंतर-मंत्रालय केंद्रीय टीम का दौरा शुरू
बाढ़ प्रभावित 11 राज्यों के नुकसान आंकने के ‌लिए गठित अंतर-मंत्रालय केंद्रीय टीम का दौरा शुरू

बाढ़ प्रभावित 11 राज्यों के नुकसान आंकने के ‌लिए गठित अंतर-मंत्रालय केंद्रीय टीम का दौरा शुरू

देश के बाढ़ प्रभावित 11 राज्यों में हुए नुकसान के आंकलन के लिए गृह, वित्त, कृषि और जल मंत्रालयों द्वारा गठित अंतर-मंत्रालय केंद्रीय टीम ने दौरा शुरू कर कर दिया। गृह मंत्रालय के एक बयान के अनुसार एक अंतर-मंत्रालय द्वारा गठित केंद्रीय टीम गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव प्रकाश के नेतृत्व में, शनिवार को कर्नाटक के दौरे पर पहुंची। केंद्रीय टीम मौके पर जाकर राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ बाढ़ से हुए नुकसान का आंकलन करेगी।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 19 अगस्त को उच्च-स्तरीय समिति की बैठक में बाढ़ प्रभावित राज्यों में हुए नुकसान के आंकलन के लिए अंतर-मंत्रालय की टीम गठित की थी। गृह मंत्रालय के अनुसार यह टीम हाल ही में बाढ़ से प्रभावित राज्यों असम, मेघालय, त्रिपुरा, बिहार, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, गुजरात और राजस्थान के साथ ही महाराष्ट्र तथा केरल भी जायेगी।

अभी तक बाढ़ जैसी भीषण आपदा के मद्देनजर राज्य से ज्ञापन मिलने के बाद ही केंद्रीय टीम राज्यों का दौरा करती थी। केंद्र सरकार द्वारा गठित टीम राज्य सरकारों द्वारा नुकसान और राहत कार्यों के लिए अतिरिक्त धनराशि आवंटन करने की मांग करने के बाद फिर से राज्यों का दौरा करेगी।

कई राज्यों में बाढ़ से खरीफ फसलों को नुकसान की आशंका

केंद्र सरकार द्वारा गठित टीम में गृह मंत्रालय, कृषि मंत्रालय, वित्त मंत्रालय के साथ ही सड़क परिवहन एवं ग्रामीण विकास तथा जलशक्ति मंत्रालय के अधिकारी शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार बाढ़ से कर्नाटक और महाराष्ट्र के साथ केरल और अन्य राज्यों में खरीफ फसलों के साथ ही सब्जियों और बागवानी फसलों को भी नुकसान होने की आशंका है।

बाढ़ प्रभावित इलाकों में पानी घटने लगा

देश के बाढ़ प्रभावित इलाकों में पानी के तेजी से घटने के कारण राहत कार्य  में तेजी आई है तथा राहत केंद्रों में शरण लिए लोग अपने-अपने घरों को लौटकर पुनर्वास के काम में जुट गए हैं। बाढ़ प्रभावित इलाकों में सेना और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) राज्य की विभिन्न एजेंसियों के सहयोग से राहत एवं बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। बारिश एवं बाढ़ से उत्तर भारत के हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब सबसे गंभीर रूप से प्रभावित हुए हैं जबकि इससे पहले के दौर में हुई बारिश और बाढ़ से दक्षिण भारत के केरल और कर्नाटक के साथ ही महाराष्ट्र के कई जिले इसकी चपेट में आए थे।