Home एग्रीकल्चर रुरल इकोनॉमी बागवानी फसलों के जरिए मध्य प्रदेश के किसानों की आमदनी बढ़ायेगी सरकार
बागवानी फसलों के जरिए मध्य प्रदेश के किसानों की आमदनी बढ़ायेगी सरकार
बागवानी फसलों के जरिए मध्य प्रदेश के किसानों की आमदनी बढ़ायेगी सरकार

बागवानी फसलों के जरिए मध्य प्रदेश के किसानों की आमदनी बढ़ायेगी सरकार

मध्यप्रदेश में बागवानी फसलों के जरिए किसानों की आमदनी बढ़ाई जायेगी। इसके लिए राज्य में अगले एक साल में एक हजार एकड़ और पांच साल में दस हजार एकड़ में अल्ट्राहाइडेंसिटी के आम और संतरे का पौधरोपण किया जाएगा। इससे अगले तीन साल में प्रतिवर्ष प्रति एकड़ किसानों को एक से डेढ़ लाख रुपये की शुद्ध आय होगी।

राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने संतरे और आम के पौधों के रोपण के मुद्दे पर कोका कोला कंपनी और जैन इरीगेशन कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। इस बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि बागवानी फसलों को बढ़ावा देकर किसानों की आय दोगुनी की जा सकेगी। इसके लिए जरूरी है कि निजी क्षेत्र के सहयोग से ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित करें, जहां पर बागवानी फसलों को बढ़ावा दिया जा सकता है।

पहले साल एक हजार और अगले पांच साल में दस हजार एकड़ का लक्ष्य

राज्य सरकार के सहयोग से कोका कोला और जैन इरीगेशन कंपनी हरदा, होशंगाबाद, बैतूल, मंडला, डिंडौरी जिले में आम और मालवा, शाजापुर एवं छिंदवाड़ा जिले में संतरे की खेती को प्रोत्साहित करेगी। पहले साल में एक हजार और अगले पांच साल में दस हजार एकड़ में आम और संतरे की खेती की जाएगी। इससे पहले साल में 700 किसान और पांच साल में 7,000 किसान लाभान्वित होंगे।

सितंबर-अक्टूबर में पायलेट प्रोजेक्ट होगा शुरू

उन्होंने बताया कि एक एकड़ में 500 पौधे लगाने के लिए किसानों को टीश्यू कल्चर पद्धति से तैयार पौधे दिए जाएंगे। इसके लिए उन्हें ड्रिप इरीगेशन की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी। इस वर्ष सितंबर-अक्टूबर में उद्यानिकी विभाग 25 एकड़ में पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में पौधरोपण करेगी और जनवरी अंत तक एक हजार एकड़ में किसानों के खेतों में अल्ट्राहाइडेंसिटी के प्लांटेशन करेगी।

एजेंसी इनपुट