Home एग्रीकल्चर रुरल इकोनॉमी पंजाब और हरियाणा में कई जगहों पर बाढ़ जैसे हालात
पंजाब और हरियाणा में कई जगहों पर बाढ़ जैसे हालात
पंजाब और हरियाणा में कई जगहों पर बाढ़ जैसे हालात

पंजाब और हरियाणा में कई जगहों पर बाढ़ जैसे हालात

पंजाब और हरियाणा में मंगलवार को बारिश नहीं हुई लेकिन पिछले कुछ दिनों लगातार हुई बारिश के कारण दोनों राज्यों के अनेक हिस्सों में बाढ़ जैसे हालात हैं। कुछ प्रभावित क्षेत्रों से जल स्तर कम होना शुरू हो गया है। किंतु लुधियाना,रूपनगर और जालंधर के अनेक गांवों में अभी तक पानी भरा हुआ है।

सतलुज नदी पर बने विभिन्न बांधों में दरार आने से इन गांवों में पानी भर गया। पंजाब और हरियाणा के किसी भी हिस्से में मंगलवार को बारिश नहीं हुई। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दोनों राज्यों के अधिकतर हिस्से में मौसम आम तौर पर साफ रहा।

खरीफ की प्रमुख फसल धान को नुकसान की आशंका

पिछले कुछ दिन में बारिश होने और भाखड़ा बांध से पानी छोड़े जाने तथा सतलुज एवं उसकी सहायक नदियों के बाढ़ का पानी लुधियाना, जालंधर, फीरोजपुर और रूपनगर के गांवों में घुस गया है। इससे फसलों को खास तौर पर धान की खेती को बेहद नुकसान पहुंचा है। साथ ही निचले इलाकों में बने मकानों को भी नुकसान पहुंचा है।

पंजाब में बाढ़ प्रभावित इलाकों से लोगों को निकाला जा रहा है

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और राज्य आपदा मोचन बल प्रभावित गावों में बचाव अभियान चला रहा है। प्रभावित इलाकों में जिला प्रशासन भी इसमें मदद दे रहा है। जालंधर में उपायुक्त और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने मंगलवार को मंडाला गांव का जायजा लिया। यहां लोगों को राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की सहायता से निकाला जा रहा है। फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए बाढ़ प्रभावित इलाकों में नौकाओं को भी लगाया गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने आपात राहत एवं पुनर्वास उपायों के लिए 100 करोड़ रुपये की घोषणा सोमवार को की थी।

हरियाणा में प्रभावित जिलों के उपायुक्तों को सहायता के निर्देश

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रभावित जिलों के सभी उपायुक्तों को किसी भी विपरीत स्थिति से निपटने के लिए सभी जरूरी इंतजाम करने के मंगलवार को निर्देश दिए। उन्होंने यमुनानगर, कैथल, कुरुक्षेत्र, करनाल और सोनीपत के उपायुक्तों को फोन करके प्रभावित लोगों को सभी प्रकार की सहायता मुहैया कराने के निर्देश दिए।

एजेंसी इनपुट