Home एग्रीकल्चर रुरल इकोनॉमी किसानों को फसलों की कटाई के समय सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी
किसानों को फसलों की कटाई के समय सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी
किसानों को फसलों की कटाई के समय सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी

किसानों को फसलों की कटाई के समय सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी

कई राज्यों में रबी फसलों की कटाई आरंभ हो गई है, तथा पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में कटाई शुरू होने वाली है। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) ने किसानों को सलाह दी है कि फसलों की कटाई के समय सामाजिक दूरा बनाए रखना जरूरी है।

आईसीएआर के महानिदेशक त्रिलोचन महापात्र ने कहा कि कोरोना वायरस का असर ऐसे समय पर हुआ है जब किसानों को रबी फसलों गेहूं, चना, सरसों और मसूर तथा जौ के साथ ही अन्य फसलों की कटाई करनी है। इसलिए हमें फसलों की कटाई के समय में सावधानी बरतने की जरूरत है। फसलों की कटाई मशीनों से की जाए तथा श्रमिकों द्वारा कटाई के समय स्वच्छता के साथ ही सोशल डिस्टेंस का पालन करना भी अनिवार्य है।

लॉकडाउन से कृषि एवं कृषि संबंधी कार्यों को बाहर रखने का निर्णय

महापात्रा ने कहा कि इस महत्वपूर्ण समय में देश भर में सभी किसानों की भलाई के लिए मेरी शुभकामनाएं हैं। हम सभी को कोरोना वायरस महामारी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार ने संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए कई कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने कटाई तथा बुवाई जैसे कृषि कार्यों, उत्पादों की खरीद एवं बिक्री को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन से कृषि एवं कृषि संबंधी कार्यों को बाहर रखने का निर्णय लिया है।

कृषि यंत्रों को एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश के भीतर ले जाने की छूट

उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के हित के लिए कृषि उत्पादों की खरीद एवं बिक्री में लिप्त सभी एजेंसियों के साथ ही मंडियां तथा राज्य सरकारों द्वारा कृषि से जुडी इकाइयों को खुली रखने का फैसला किया है। किसानों और कृषि श्रमिकों द्वारा खेत में कार्य करना तथा कृषि यंत्रों से संबद्ध कस्टम हायरिंग सेंटर भी खुले रहेंगे। इसके अलावा फसलों की कटाई व बुवाई के लिए कृषि यंत्रों को एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश के भीतर ले जाने की छूट होगी। उर्वरक, कीटनाशक और बीज तैयार करने वाली कंपनियों व पैकेजिंग इकाइयों का काम जारी रहेगा।