Home एग्रीकल्चर रुरल इकोनॉमी देवेगौड़ा ने किसानों के लिए विशेष पैकेज देने की मांग की
देवेगौड़ा ने किसानों के लिए विशेष पैकेज देने की मांग की
देवेगौड़ा ने किसानों के लिए विशेष पैकेज देने की मांग की

देवेगौड़ा ने किसानों के लिए विशेष पैकेज देने की मांग की

कोरोना वायरस से बचाव के लिए किए गए लॉकडाउन की वजह से हो रहे घाटे के कारण खेती छोड़ने को मजबूर किसानों के लिए पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा ने कर्नाटक सरकार से विशेष पैकेज देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण हुए नुकसान की भरपाई के लिए राज्य सरकार किसानों को विशेष पैकेज दे।

एच डी देवेगौड़ा ने राज्य के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा को लिखे पत्र में कहा कि बजट में की गई योजना को छोड़ा जा सकता है, लेकिन किसानों को इस संकट में नहीं छोड़ा जा सकता। जेडी (एस) सुप्रीमो ने कहा कि दूध उत्पादकों से बिना बिके दूध की खरीद राज्य सरकार करें, और उस दूध को झुग्गीवासियों को वितरित कर किसानों की सहायता करनी चाहिए।

लॉकडाउन के कारण किसान अपनी फसल नहीं बेच पा रहे हैं

उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री को चेतावनी दी, कि यदि आप किसानों की सहायता के लिए आगे नहीं आये तो फिर उन्हें अपनी जमीन तक बेचने पर मजबूर होना पड़ सकता है। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान कर्ज के जाल में फंसकर आत्महत्या जैसा कदम उठाने को मजबूर हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि देशभर में चल रहे लॉकडाउन के कारण किसान अपनी फसल नहीं बेच पा रहे हैं क्योंकि उन्हें अपनी उपज का उचित मूल्य नहीं मिल पा रहा है, और फसल को कम कीमत पर बेच रहे हैं तो उन्हें नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि सिर्फ एक महीने में ही किसान दिवालियापन के कगार पर पहुंच गये हैं, जोकि लाखों एकड़ में खड़ी फसलों को बेचने में असमर्थ हैं।

इससे पहले भी लॉकडाउन के कारण किसानों और मजदूरों की दुर्दशा को उजगार किया था

जेडी (एस) सुप्रीमो ने राज्य के किसानों की परेशानियों को राज्य सरकार के सामने उजगार किया। इससे पहले तीन अप्रैल को भी उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लॉकडाउन के कारण किसानों और मजदूरों की दुर्दशा को उजगार किया था। उन्होंने कहा कि संकट के समय में हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए, कि खेती के कामकाज में व्यवधान नहीं आये, तभी हम कोरोना वायरस जैसी महामारी से लंबे समय तक लड़ाई कायम रख सकते हैं।

एजेंसी इनपुट