Home एग्रीकल्चर रुरल इकोनॉमी केंद्र ने दिल्ली सरकार से राशन की दुकानों के जरिये प्याज 23.90 रुपये किलो बेचने को कहा
केंद्र ने दिल्ली सरकार से राशन की दुकानों के जरिये प्याज 23.90 रुपये किलो बेचने को कहा
केंद्र ने दिल्ली सरकार से राशन की दुकानों के जरिये प्याज 23.90 रुपये किलो बेचने को कहा

केंद्र ने दिल्ली सरकार से राशन की दुकानों के जरिये प्याज 23.90 रुपये किलो बेचने को कहा

केंद्र ने दिल्ली सरकार से बफर स्टॉक से प्याज लेकर उसे नागरिक आपूर्ति विभाग और राशन की दुकानों के जरिये 23.90 रुपये किलो के भाव पर बेचने को कहा है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्याज के ऊंचे दाम को देखते हुए केंद्र ने यह कदम उठाया है।

केंद्र सरकार के आंकड़ों के अनुसार प्याज का भाव दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में 39-40 रुपये प्रति किलो है। शहर में कुछ खुदरा विक्रेता गुणवत्ता और स्थान विशेष के आधार पर इसे 50 रुपये किलो के भाव पर भी बेच रहे हैं। सरकार के निर्देश पर भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ (नाफेड) और भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ (एनसीसीएफ) के साथ-साथ मदर डेयरी बफर स्टॉक से प्याज लेकर उसे राष्ट्रीय राजधानी में बेच रहे हैं। मदर डेयरी सफल दुकानों के जरिये प्याज 23.90 रुपये किलो के भाव पर बेच रही है।

एनसीआर की दैनिक जरूरत 650 टन प्याज की

उपभोक्ता मामले मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने न्यूज एजेंसी पीटआई को बताया कि हमने दिल्ली सरकार से केंद्रीय बफर स्टॉक से प्याज नागरिक आपूर्ति विभाग और राशन की दुकानों के जरिये बेचने का आग्रह किया है। अधिकारी ने कहा कि राज्य द्वारा अधिकतम 23.90 रुपये प्रति किलो के भाव पर प्याज बेचा जा रहा है। केंद्र सरकार ने प्याज का स्टॉक 15 से 16 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर किया है। दिल्ली में प्रतिदिन 350 टन प्याज की जरूरत है जबकि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र यानी एनसीआर की जरूरत प्रतिदिन 650 टन प्याज की है।

केंद्र ने 56 हजार टन प्याज की हुई है खरीद

केंद्र सरकार ने इस साल 56,000 टन प्याज का बफर स्टाक बनाया है। इसमें से 10,000-12,000 टन नाफेड, एनसीसीएफ और मदर डेयरी ने अभी तक बेचा है। खरीफ उत्पादन कम होने के कारण प्याज की कीमतों में तेजी आई है। उत्पादक राज्यों विशेषकर महाराष्ट्र में प्याज खेती के रकबे में 10 फीसदी की गिरावट के कारण प्याज के दामों में तेजी आई है।

एजेंसी इनपुट