Home एग्रीकल्चर रुरल इकोनॉमी कृषि मंत्रालय के अनुसार देशभर में लॉकडाउन के बीच गेहूं की 67 फीसदी कटाई पूरी
कृषि मंत्रालय के अनुसार देशभर में लॉकडाउन के बीच गेहूं की 67 फीसदी कटाई पूरी
कृषि मंत्रालय के अनुसार देशभर में लॉकडाउन के बीच गेहूं की 67 फीसदी कटाई पूरी

कृषि मंत्रालय के अनुसार देशभर में लॉकडाउन के बीच गेहूं की 67 फीसदी कटाई पूरी

कोरोना वायरस महामारी के कारण देशभर में चल रहे लॉकडाउन के बीच सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए देश में अब तक गेहूं के कुल 310 लाख हेक्टेयर रकबे के 67 फीसदी की कटाई की जा चुकी है।

कृषि मंत्रालय के अनुसार, मौजूदा अनिश्चितता के बीच कृषि संबंधी कार्य उम्मीद बढ़ाने वाली गतिविधियां हैं, जो देश में खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करती हैं। पूरे देश में किसान और खेतिहर मजदूर सभी विपत्तियों से लड़ने के लिए पसीना बहा रहे हैं और मेहनत कर रहे हैं। केन्द्र और राज्य सरकारों के समय-समय पर हस्तक्षेप के साथ किसानों के प्रयासों ने सुनिश्चित कर दिया है कि कटाई संबंधी कार्यों और गर्मियों की फसलों की निरंतर बुवाई में कोई बाधा नहीं है।

हरियाणा, पंजाब और उत्‍तर प्रदेश में गेहूं की कटाई पूरे जोर पर

मंत्रालय के अनुसार देश में 310 लाख हेक्टेयर भूमि में बोई गई गेहूं की कुल रबी फसल में से 63-67 फीसदी की कटाई हो चुकी है। राज्यवार कटाई भी बढ़ी है और यह मध्य प्रदेश में 90-95 फीसदी, राजस्थान में 80-85 फीसदी, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब में 60- 65 फीसदी तक हो चुकी है। हरियाणा, पंजाब और उत्‍तर प्रदेश में कटाई अपने चरम पर है और इस महीने के अंत तक इसके पूरा हो जाने की संभावना है। पंजाब में फसल काटने की 18 हजार मशीनों को काम पर लगाया गया है, जबकि हरियाणा ने कटाई और थ्रेशिंग के लिए पांच हजार मशीनें लगाई हैं।

दालों की कटाई लगभग पूरी, गन्ने की फसल कई राज्यों में बची हुई है

चना, मसूर, उड़द, मूंग और मटर जैसी दलहनों की भी 161 लाख हेक्टेयर जमीन में बोई गई फसलों की कटाई हो चुकी है। हालांकि गन्ने के मामले में कुल 54.29 लाख हेक्टेयर में बोई गई फसल की महाराष्ट्र, कर्नाटक, गुजरात, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और पंजाब में कटाई पूरी हो चुकी है। तमिलनाडु, बिहार, हरियाणा और उत्तराखंड जैसे राज्यों में 92-99 फीसदी कटाई पूरी हो चुकी है। उत्तर प्रदेश में 75-80 फीसदी कटाई पूरी हो चुकी है और यह मई के मध्य तक जारी रहेगी।

खरीफ फसलों की बुवाई पिछले साल की तुलना में 15 फीसदी बढ़ी

तिलहन की फसलों के मामले में 69 लाख हेक्टेयर में बोई गई सरसों की फसल की राजस्थान, उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, झारखंड, गुजरात, छत्तीसगढ़, बिहार, पंजाब, असम, अरुणाचल प्रदेश और जम्‍मू-कश्मीर में कटाई पूरी हो चुकी है। मूंगफली की 4.7 लाख हेक्टेयर में बोई गई फसल में से करीब 90 फीसदी की खुदाई हो चुकी है। इसी तरह आंध्रप्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, गुजरात, कर्नाटक, केरल, ओडिशा, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में 28 लाख हेक्टेयर जमीन में रबी धान की बोई गई फसल की कटाई आरंभिक अवस्‍था में है। इसका कारण है कि रबी मौसम की इस फसल में अभी दाने पक रहे हैं और इनकी कटाई का समय अलग-अलग होता है। जिन क्षेत्रों में रबी फसलों की कटाई हो चुकी है, वहां किसानों ने खरीफ फसलों की बुवाई  के लिये खेतों को तैयार करना शुरू कर दिया है। अभी तक किसानों ने 52.78 लाख हेक्टेयर में खरीफ फसलों की बुवाई कर ली है, जो पिछले साल की तुलना में 15 फीसदी अधिक रकबा है।

एजेंसी इनपुट