Home एग्रीकल्चर पालिसी उत्तर प्रदेश से समर्थन मूल्य पर 50 लाख टन धान की खरीद का लक्ष्य
उत्तर प्रदेश से समर्थन मूल्य पर 50 लाख टन धान की खरीद का लक्ष्य
उत्तर प्रदेश से समर्थन मूल्य पर 50 लाख टन धान की खरीद का लक्ष्य

उत्तर प्रदेश से समर्थन मूल्य पर 50 लाख टन धान की खरीद का लक्ष्य

खरीफ विपणन सीजन 2019-20 में उत्तर प्रदेश से न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर 50 लाख टन धान की खरीद का लक्ष्य तय किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में इस नीति को मंजूरी दी गई। राज्य सरकार ने धान की खरीद कीमतों में 20 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की है।

बैठक के बाद उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने संवाददाताओं को बताया कि पहली अक्टूबर 2019 से शुरू होने खरीफ विपणन सीजन में राज्य से 50 लाख टन धान की खरीद का लक्ष्य तय किया है जबकि पिछले खरीफ सीजन में राज्य से 48.25 लाख टन धान की खरीद की गई थी।

पहली अक्टूबर से होगी खरीद शुरू

केंद्र सरकार ने खरीफ विपणन सीजन 2019-20 के लिए ग्रेड ए धान का एमएसपी 1,835 रुपये और सामान्य किस्म के धान का एमएसपी 1,815 रुपये प्रति क्विंटल तय किया है। पिछले खरीफ विपणन सीजन की तुलना में केंद्र सरकार ने धान के समर्थन मूल्य में 65 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की थी। उत्तर प्रदेश से चालू खरीफ विपणन सीजन में धान की खरीद पहली अक्टूबर 2019 से शुरू होगी और 28 फरवरी, 2020 तक खरी जारी रहेगी।

राज्य की 23 सहकारी चीनी मिलों को 3,221.63 करोड़ रुपये का कैश क्रेडिट

मंत्रिमंडल की बैठक में राज्य की 23 सहकारी चीनी मिलों को 3,221.63 करोड़ रुपये कैश क्रेडिट सहकारी बैंकों से देने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई। राज्य की सहकारी 23 चीनी मिलों को पेराई सीजन 2019-20 में 3,221.63 करोड़ कैश क्रेडिट दिया जाएगा। राज्य की गुड़, खंडसारी इकाइयों के लिये एकमुश्त समाधान योजना 10 फीसदी अधिक बजट के साथ तीन साल के लिए लागू होगी। इसके लिये 31.20 करोड़ की जगह 49.09 करोड़ रुपये का खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। इसके साथ ही कृषि निर्यात पर नई पॉलिसी को भी मंजूरी दी गई। इसका मकसद कृषि निर्यात को बढ़ाना और वर्ष 2024 तक कृषि निर्यात को दोगुना करने का लक्ष्य तय किया गया है।

एजेंसी इनपुट