Home एग्रीकल्चर पालिसी पीएम-किसान योजना की तीसरी किस्त आज से, 54 फीसदी किसानों को नहीं मिलेगा पैसा
पीएम-किसान योजना की तीसरी किस्त आज से, 54 फीसदी किसानों को नहीं मिलेगा पैसा
पीएम-किसान योजना की तीसरी किस्त आज से, 54 फीसदी किसानों को नहीं मिलेगा पैसा

पीएम-किसान योजना की तीसरी किस्त आज से, 54 फीसदी किसानों को नहीं मिलेगा पैसा

प्रधानमंत्री किसान सम्मान (पीएम-किसान) योजना की तीसरी किस्त आज से मिलनी शुरू हो गई है, लेकिन अभी देश के 54 फीसदी किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा। राज्य सरकारों द्वारा भेजी गई सूची के अनुसार 6.15 करोड़ किसानों को ही तीसरी किस्त मिल पायेगी, जो कुल लाभार्थियों का 46 फीसदी ही है। इस योजना के तहत देशभर के 13.93 करोड़ किसान आते हैं। चार राज्यों पश्चिम बंगाल, दिल्ली, सिक्किम और लक्षद्वीप के एक भी किसान को इस योजना का पैसा नहीं मिला है। जो किसान इस स्कीम से आगे जुड़ेंगे, उन्हें पहली और दूसरी किस्त का पैसा नहीं मिलेगा।

राज्यों ने केंद्र को 6.35 करोड़ लाभार्थियों की भेजी सूची

कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पश्चिम बंगाल, दिल्ली और लक्षद्वीप ने लाभार्थी किसानों की लिस्ट ही नहीं भेजी है। सिक्कम ने 2,919 किसानों की लिस्ट भेजी है, जिनका अभी वेरीफिकेशन हो रहा है। उन्होंने बताया कि तीसरी किस्त उन्हीं किसानों के खाते में भेजी जायेगी, जिनके आधार कार्ड जुड़ चुके हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकारों से 6.35 करोड़ किसानों की लिस्ट केंद्र सरकार को मिली है, इनमें से 6.15 करोड़ किसानों का वेरीफिकेशन हो चुका है।

कुल 13.93 करोड़ किसान आयेंगे इसके दायरे में 

उन्होंने बताया कि पीएम-किसान योजना के कुल लाभार्थियों की संख्या करीब 13.93 करोड़ है, जिनमें से 6.15 करोड़ किसानों को तीसरी किस्त का लाभ मिलेगा। यह कुल संख्या का 46 फीसदी ही है। जो किसान तीसरी किस्त में जुड़े हैं, उन्हें पहली और दूसरी किस्त का पैसा नहीं मिल पायेगा। पहली किस्त का लाभ 5.77 करोड़ किसानों को और दूसरी किस्त का लाभ 3.42 करोड़ किसानों को मिला है।

किसानों को तीन किस्तों में मिलेंगे 6,000 रुपये

पीएम-किसान योजना की शुरुआत 24 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से की थी। इस योजना के तहत किसानों को साल में तीन किस्तों में 6,000 रुपये दिए जाने हैं। पहले इस स्कीम में सीमांत किसानों को शामिल किया गया था जिनके पास पांच एकड़ तक जमीन है, लेकिन बाद में पांच एकड़ की शर्त हटा ली थी। देशभर में किसानों की संख्या 14.50 करोड़ के करीब है। आयकर दाता और दस हजार रुपये से ज्यादा मासिक पेंशन पाने वाले किसानों को इस स्कीम का लाभ नहीं मिलेगा। पीएम-किसान योजना के लिए पहले 75,000 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया था, जिसे बाद में बढ़ाकर 80,000 करोड़ रुपये किया गया।