Home एग्रीकल्चर पालिसी लॉकडाउन : रबी फसलों की आवक को देखते हुए सरकार ने मंडियां खोलने का ​किया निर्णय
लॉकडाउन : रबी फसलों की आवक को देखते हुए सरकार ने मंडियां खोलने का ​किया निर्णय
लॉकडाउन : रबी फसलों की आवक को देखते हुए सरकार ने मंडियां खोलने का ​किया निर्णय

लॉकडाउन : रबी फसलों की आवक को देखते हुए सरकार ने मंडियां खोलने का ​किया निर्णय

कोरोना वायरस के कहर से बचने के लिए संपूर्ण भारत में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है और इस दौरान लोगों को घरों से निकलने की इजाजत नहीं है, लेकिन केंद्र सरकार ने रबी फसलों की आवक को देखते हुए सभी मंडियों को खुला रखने का निर्णय लिया है।

कृषि मंत्रालय के अनुसार कृषि उत्पादों की खरीद एवं बिक्री में लिप्त सभी एजेंसियां, मंडियां तथा राज्य सरकारों द्वारा इकाइयां खुली रहेंगी। किसानों और कृषि श्रमिकों द्वारा खेत में कार्य करना तथा कृषि यंत्रों से संबद्ध कस्टम हायरिंग सेंटर खुले रहेंगे। इसके अलावा फसलों की कटाई व बुवाई के लिए कृषि यंत्रों को एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश के भीतर ले जाने की छूट होगी। उर्वरक, कीटनाशक और बीज तैयार करने वाली कंपनियों व पैकेजिंग इकाइयों का काम जारी रहेगा।

कृषि मंत्रालय के अनुसार यह निर्णय कृषि से संबंधित कार्यों के, बिना किसी व्यवधान के समय पर होने के संबंध में लिए गए हैं, जिससे कि इस विकट समय में लॉकडाउन के दौरान भी देश की जनता को खाद्यान्न उपलब्ध करवाया जा सके और किसानों व आम जनता को कोई परेशानी नहीं आए। इस आदेश के सख्ती से पालन के लिए भारत सरकार के संबंधित मंत्रालयों, विभागों, राज्यों व संघशासित प्रदेशों  के प्राधिकृत अधिकारियों को निर्देशित किया गया है।

कार्य करते समय सामाजिक दूरी बनाए रखने के निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा

मंत्रालय के अनुसार, उक्त सभी कार्य करते समय सामाजिक दूरी बनाए रखने के निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा। केंद्र सरकार ने कटाई तथा बुवाई जैसे कृषि कार्यों, उत्पादों की खरीद एवं बिक्री को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए पूरे देश में भौतिक लॉकडाउन से कृषि एवं कृषि सम्बन्धी कार्यों को बाहर रखने का निर्णय लिया है। राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार और हरियाणा समेत कई राज्यों की सरकारों ने पहले से ही फसल कटाई, मंडी, खाद, बीज, कीटनाशक, राशन, मंडी तक सामान ले जाने के संबंध में आदेश जारी किए हुए हैं। राज्य सरकारों ने यह भी कहा है कि किसानों को खेती-बाड़ी से जुड़े कार्यों में दिक्कत नहीं होने दी जाएगी।

कई राज्यों में गेहूं, जौ, चना और मसूर की कटाई शुरू

इस समय रबी फसलों गेहूं, जौ, चना और मसूर के साथ ही सरसों की कटाई राज्यों जैसे मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात आदि में शुरू हो चुकी है जबकि पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में जौ और सरसों की कटाई तो आरंभ हो चुकी है तथा गेहूं की फसल पकने को तैयार है। उत्तर भारत के साथ ही मध्य भारत के कई राज्यों में मार्च महीने में हुई बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान हुआ है जिस कारण पहले ही किसानों को आर्थिक घाटा उठाना पड़ा है।